In association with
S M L

हिमाचल चुनाव 2017: कांग्रेस के लाहौल-स्पीति के विधायक रवि ठाकुर के गढ़ में बीजेपी का सेंध लगाना मुश्किल

ये सीट अबतक बस एक बार बीजेपी के कब्जे में रही है और इस बार भी ये मुकाबला उतना ही मुश्किल है

FP Staff Updated On: Nov 08, 2017 11:15 PM IST

0
हिमाचल चुनाव 2017: कांग्रेस के लाहौल-स्पीति के विधायक रवि ठाकुर के गढ़ में बीजेपी का सेंध लगाना मुश्किल

हिमाचल प्रदेश के चुनावों के लिए महज कुछ दिन बचे हैं. राज्य की दो मुख्य पार्टियां कांग्रेस और बीजेपी ने पूरी ताकत लगा रखी है. पीएम मोदी खुद सूबे में जाकर रैलियां कर रहे हैं, ऐसे में यहां मुकाबला काफी कड़ा होने वाला है.

यहां 9 नवंबर को 68 विधानसभा सीटों पर चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में बात लाहौल स्पीति विधानसभा सीट की. इस सीट को अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व किया गया है. बीजेपी की किस्मत यहां लगभग शून्य ही रही है. यहां पर दशकों से हो रहे चुनाव में बीजेपी को बस एक बार जीत मिली है. 2007 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी से डॉ. राम लाल मार्कंडा की जीत हुई थी, इस बार मार्कंडा फिर मैदान में हैं. वहीं कांग्रेस के सिटिंग एमएलए रवि ठाकुर फिर से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. रवि ठाकुर ने 2012 के चुनावों में राम लाल मार्कंडेय को 3600 से ज्यादा वोटों से हराया था. अब मार्कंडा अपना बदला लेना चाहेंगे.

इस सीट पर दो निर्दलीय नेता भी अपनी दावेदारी ठोंक रहे हैं. श्री राजिन्दर करपा और सुदर्शन.

रवि ठाकुर इन दिनों जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं. वो आजकल कभी लाहौल में तो कभी स्पीति में नजर आ रहे है. वहीं सोशल मीडिया पर भी उनकी काफी पकड़ है. रवि ठाकुर का पलड़ा काफी मजबूत नजर आ रहा है. अपने बौद्ध विहारों के लिए प्रसिद्ध स्पीति में पिछले सालों में दो पुलों का निर्माण उनकी राहें आसान कर सकता है. वहीं सीएम वीरभद्र सिंह भी उनके लिए चुनाव प्रचार का चेहरा हैं.

वहीं डॉ. राम लाल मार्कंडा भी पूरी कोशिश लगा रहे हैं. हालांकि वो काफी समय से अपना जनाधार मजबूत करने में लगे हैं लेकिन फिर भी उनके लिए ये मुकाबला मुश्किल साबित हो सकता है. रवि ठाकुर के उलट वो सोशल मीडिया पर उतने सक्रिय नहीं हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गणतंंत्र दिवस पर बेटियां दिखाएंगी कमाल!

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi