Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

हिमाचल चुनाव: मशरूम नगरी सोलन में किसका जायका होगा बेहतर

इस क्षेत्र में 80,192 मतदाता हैं और यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट है

FP Staff Updated On: Nov 06, 2017 10:32 PM IST

0
हिमाचल चुनाव: मशरूम नगरी सोलन में किसका जायका होगा बेहतर

हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में स्थित है सोलन विधानसभा क्षेत्र. यह शहर बेहद खूबसूरत है और पर्यटकों में बेहद लोकप्रिय भी. यह समुद्र तल से करीब 1467 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. इस जगह के सभी इलाके ऊंचे पहाड़ों और जंगलों से घिरे हुए हैं.

यहां मशरूम की बड़ी पैमाने पर खेती की जाती है. इसके अलावा इसे एक औद्योगिक शहर के रूप में भी जाना जाता है. क्योंकि यह पहाड़ों पर स्थित है, इसलिए यहां बड़े पैमाने पर निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता.

यहां के बारे में कहा जाता है कि यहां स्थित कारोल पर्वत के पास की ही एक गुफा में महाभारत के 'पांडव' अपने निर्वासन के दौरान रहे थे. पुराने समय में सोलन बाघाट रियासत की राजधानी हुआ करती थी जिसके पहले राजा बिजली देव थे. इस रियासत का अंत दुर्गा सिंह के शासनकाल में हो गया.

shandilya

कद्दावर नेता हैं शांडिल्य

इस क्षेत्र में 80,192 मतदाता हैं और यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट है. यहां से वर्तमान विधायक कांग्रेस के कर्नल धनीराम शांडिल्य हैं. 77 साल के धनी राम शांडिल्य सेना से रिटायर होने के बाद राजनीति में आए हैं और कांग्रेस के प्रमुख दलित चेहरा हैं. 2012 में उन्होंने बीजेपी की कुमारी शीला को हरा कर विधानसभा का रास्ता तय किया था. यहां से इस बार बीजेपी के राजेश कश्यप उम्मीदवार हैं.

राज्य में 9 नवंबर को चुनाव हैं और इसके लिए सभी दलों ने कमर कस ली है. देखना होगा कि आखिर में बाज़ी किसके नाम होती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi