Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

हिमाचल चुनाव: पंजाबी भाषी नालागढ़ में है राजपूत वोटरों का दबदबा

इन चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस दोनों का बहुत कुछ दांव पर लगा हुआ है

FP Staff Updated On: Nov 06, 2017 07:52 PM IST

0
हिमाचल चुनाव: पंजाबी भाषी नालागढ़ में है राजपूत वोटरों का दबदबा

हिमाचल प्रदेश में चुनाव की तारीख लगातार नजदीक आती जा रही है. इसके साथ ही चुनावी सरगर्मी भी तेज होती जा रही है. राज्य के सोलन जिले में स्थित नालागढ़ विधानसभा सीट पर भी इसका असर साफ़ दिखाई दे रहा है. यह एक अनारक्षित सीट है.

इस क्षेत्र में 2012 में कुल 80,563 मतदाता थे. यहां से मौजूदा विधायक बीजेपी के कृष्ण लाल ठाकुर हैं. हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को वोटिंग होने वाली है. नालागढ़ में 100 मतदाता केंद्र हैं जहां वीवीपैट मशीन से वोटिंग कराई जाएगी. नालागढ़ एक ऐतिहासिक शहर है जो चंडीगढ़ के करीब है. यहां का नालागढ़ किला सैलानियों में बेहद प्रसिद्ध है.

dhumal

इस जगह कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने खूब शासन किया है हालांकि फिलहाल इस सीट पर बीजेपी का कब्जा है. यह मुकाबला बीजेपी के वर्तमान विधायक कृष्ण लाल ठाकुर और कांग्रेस के लखविंदर सिंह राणा के बीच है.

बीजेपी और कांग्रेस में कड़ा मुकाबला

इन चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस दोनों का बहुत कुछ दांव पर लगा हुआ है. राज्य में सत्ता पाने के लिए बीजेपी लगातार वीरभद्र सरकार पर हमलावर है वहीं कांग्रेस केंद्र सरकार के नाम पर बीजेपी पर हमले कर रही है.

नालागढ़ को हिमाचल प्रदेश का गेटवे भी कहा जाता है क्योंकि यह कभी हिंदूर राज्य की राजधानी था. नालागढ़ के अंतिम राजा सुरेंद्र सिंह थे और वर्तमान में उनके पुत्र विजयेंद्र सिंह नाम मात्र के लिए राजा हैं. यहां के ज्यादातर लोग पंजाबी भाषी हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi