S M L

हरियाणा: पांच नगर निगमों में लगभग 70 फीसदी मतदान

हरियाणा में पांच नगर निगमों और दो नगरपालिकाओं के लिए रविवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 70 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया.

Updated On: Dec 16, 2018 10:28 PM IST

Bhasha

0
हरियाणा: पांच नगर निगमों में लगभग 70 फीसदी मतदान

हरियाणा में पांच नगर निगमों और दो नगरपालिकाओं के लिए रविवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 70 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. अधिकारियों ने बताया कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरू हुआ और शांतिपूर्वक खत्म हो गया.

जिन पांच नगर निगमों के लिए मतदान हुआ है वह हिसार, करनाल, पानीपत, रोहतक और यमुनानगर हैं. जबकि दो नगरपालिकाओं में फतेहाबाद में जाखल मंडी और कैथल में पुंडरी शामिल हैं. मतदान सुबह साढ़े सात बजे शुरू हो कर शाम साढ़े चार बजे खत्म हो गया. राज्य निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि सात बजे के करीब उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक इन चुनावों में 70 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है. हालांकि, अंतिम आंकड़े आना बाकी है .

सबसे अधिक मतदान जाखल मंडी नगर परिषद में हुआ है. जहां 89.5 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है. राज्य निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि कुल 14,01,454 मतदाता वोटिंग के लिए पात्र हैं. जिसमें से 7,44,468 पुरुष और 6,56,986 महिलाएं हैं. महापौर और नगर निगम एवं नगरपालिका सदस्यों के लिए यह मतदान 136 वार्डों में हो रहा है.

अगले साल होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी बीजेपी के लिए यह एक तरह से परीक्षा है जो कि स्थानीय निकाय चुनाव पार्टी के चिह्न पर लड़ रही है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इन चुनावों में पार्टी उम्मीदवारों के लिए काफी प्रचार किया है. विपक्षी इनेलो बीएसपी ने भी इस चुनाव में अपने प्रत्याशी उतारे हैं. कांग्रेस ने चुनाव में पार्टी चिह्न का इस्तेमाल नहीं करने का निर्णय किया है. वह चुनाव मैदान में उतरे कुछ निर्दलीयों का समर्थन कर रही है.

महापौर सीधे चुने जाएंगे

वहीं खट्टर के गृह विधानसभा क्षेत्र करनाल में बीजेपी प्रत्याशी रेणु बाला गुप्ता के लिए दिक्कत हो गई है क्योंकि विपक्षी इनेलो-बीएसपी और कांग्रेस ने हाथ मिला लिया है और निर्दलीय उम्मीदवार आशा वाधवा का समर्थन कर दिया है. पहली बार पांच नगर निगमों के लिए महापौर सीधे चुने जाएंगे. पहले पार्षद महापौर का चयन करते थे.

एक अन्य महत्वपूर्ण घटनाक्रम में हरियाणा के निर्वाचन आयोग ने नोटा विकल्प का इस्तेमाल एक काल्पनिक उम्मीदवार के लिए करने का निर्णय किया है. इससे विजेता उम्मीदवार के लिए, नोटा के लिए डाले गए मतों से अधिक वोट प्राप्त करना जरूरी हो गया है. प्रवक्ता ने कहा कि 1292 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इनमें से 304 संवेदनशील और 166 अत्यंत संवेदनशील मतदान केंद्र हैं.

मतदान के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है. हरियाणा के पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने कहा है कि पूरे पुलिस प्रशासन ने निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए कमर कस ली है. राज्य निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता ने कहा कि कुल 7016 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. इससे पहले पानीपत में बाबरपुर मंडी के 1700 से अधिक मतदाताओं ने नगर निगम चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय किया था. उनकी मांग थी कि उनके क्षेत्र को नगर निगम से हटाकर ग्राम पंचायत में बहाल किया जाए.

स्थानीय निवासियों का दावा है कि बाबरपुर मंडी को पानीपत नगर निगम में 2012 में शामिल किया गया था ताकि उसका तेजी से विकास सुनिश्चित किया जा सके, लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

ये भी पढ़ें: 

अब भी जोड़-तोड़ में लगी है BJP, विधायकों से लगातार कर रही है संपर्क: दिग्विजय

भूपेश बघेल: 2013 के नक्सल हमले में समूचा पार्टी नेतृत्व खत्म होने के बाद कैसे कांग्रेस को दोबारा खड़ा किया

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi