S M L

अनिल विज का विवादित ट्वीट, ममता बनर्जी को बताया ‘ताड़का’, बोले- बंगाल किसी के बाप का नहीं

केंद्र और ममता बनर्जी नीत पश्चिम बंगाल सरकार के बीच टकराव की स्थिति पैदा होने को लेकर हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने ममता पर निशाना साधा

Updated On: Feb 04, 2019 11:42 AM IST

FP Staff

0
अनिल विज का विवादित ट्वीट, ममता बनर्जी को बताया ‘ताड़का’, बोले- बंगाल किसी के बाप का नहीं

केंद्र और ममता बनर्जी नीत पश्चिम बंगाल सरकार के बीच टकराव की स्थिति पैदा होने को लेकर हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने ममता पर निशाना साधा है. विज ने ममता बनर्जी की तुलना 'ताड़का' तक से कर डाली है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, विज ने कहा है कि जब हम छोटे थे, राम लीला देखने जाया करते थे, तो उसमें एक सीन आया करता खा कि ऋषी-मुनी जब यग्य किया करते थे तो ताड़का आके उसमें व्यवधान डाल दिया करती थी, ठीक उसी तरह का रोल ममता बनर्जी कर रही हैं.

उन्होंने कहा कि चाहे योगी आदित्यनाथ की रैली हो या फिर अमित शाह यात्रा निकालना चाहते हों, ममता उसमें रुकावट डालती हैं. ममता कभी किसी का हेलीकॉप्टर रोकती हैं, इसलिे पूरी तरह से ममता बनर्जी वही कर रही हैं जो ताड़का किया करती थी. बंगाल किसी के बाप का नहीं है वह हम सब का है. देश में प्रजातंत्र है वहां सब को जाने का साधिकार है. वहां सब पार्टियों को अपनी-अपनी राजनीतिक गतिविधियां चलाने का अधिकार है.

क्या था मामला?

कोलकाता में चिटफंड घोटाले की जांच से जुड़े मामले में जबरदस्त ड्रामा चल रहा है. सीबीआई की टीम और कोलकाता पुलिस के बीच दंगल के बाद पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी मेट्रो चैनल के नजदीक धरने पर बैठी हुई हैं. दरअसल कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर चिटफंड घोटालों के मामले की पूछताछ के लिए रविवार को सीबीआई की एक टीम पहुंची, लेकिन वहां तैनात पुलिस ने सीबीआई को घर में घुसने से रोक दिया. इस दौरान सीबीआई अधिकारियों और मौजूद पुलिस के बीच टकराव की स्थिति भी बन गई क्योंकि कोलकाता पुलिस सीबीआई के कुछ अधिकारियों को जबरदस्ती नजदीक के थाने में ले गई.

मामले के सामने आने के बाद बंगाल की सियासत में तूफान आ गया. खुद सीएम ममता बनर्जी राजीव कुमार के लाउडन स्ट्रीट स्थित आवास पहुंच गईं. सीबीआई ने शनिवार को दावा किया था कि राजीव कुमार फरार चल रहे हैं और शारदा व रोज वैली चिटफंड घोटालों के सिलसिले में उनकी तलाश की जा रही है. इस दावे के एक दिन बाद सीबीआई के करीब 20 अधिकारियों की एक टीम रविवार शाम कुमार के आवास पर पहुंची थी, लेकिन उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया. कुछ ही देर बाद कोलकाता पुलिस के अधिकारियों की एक टीम सीबीआई अधिकारियों से बातचीत के लिए मौके पर पहुंची और यह पता लगाने की कोशिश करने लगी कि क्या उनके पास कुमार से पूछताछ करने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट्स थे.

पुलिस कमिश्नर के घर के बाहर खड़े सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था, 'हम इस मुद्दे पर अभी कोई बात नहीं करना चाहते. देखते हैं कि क्या होता है. थोड़ा इंतजार करें.' बाद में सीबीआई अधिकारियों की एक छोटी सी टीम को बात करने के लिए शेक्सपियर सरनी पुलिस थाने ले जाया गया. कुछ और लोगों के मौके पर पहुंचने पर हंगामा हो गया. जिसके बाद सीबीआई अधिकारियों को जबरन पुलिस थाने ले जाया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi