विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

विपक्ष को रौंदने के लिए बीजेपी जून में करवा सकती है गुजरात विधानसभा चुनाव

2017 के अंत की बजाय अगर जून में चुनाव होते हैं तो आप और कांग्रेस को रौंदने में बीजेपी को कोई खास दिक्कत नहीं होगी

FP Staff Updated On: Mar 20, 2017 09:51 PM IST

0
विपक्ष को रौंदने के लिए बीजेपी जून में करवा सकती है गुजरात विधानसभा चुनाव

पीएम मोदी के विकास के मॉडल को गुजरात मॉडल कहा जाता है. इस साल के आखिरी में गुजरात विधानसभा के चुनाव होने हैं. यह चुनाव बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी के लिहाज से काफी खास है क्योंकि मोदी की पहचान गुजरात से जुड़ी है.

हाल ही में हुए पांच राज्यों के चुनाव में यूपी और उत्तराखंड में मिली भारी जीत और गोवा और मणिपुर में सरकार बनाने के बाद बीजेपी का हौसला बुलंदी पर है.

ऐसी स्थिति में सूत्रों के अनुसार बीजेपी मोदी लहर का भरपूर फायदा उठाने के लिए गुजरात में तय समय से पहले चुनाव करवा सकती है. खबरों के मुताबिक मोदी और शाह इस साल जून में ही गुजरात के विधानसभा चुनाव करवा सकते हैं.

बीजेपी ने इस साल होने वाले गुजरात चुनाव से पहले एक नया नारा दिया है- ‘यूपी में 325, गुजरात में 150.’ राज्‍य की 182 विधानसभा सीटों में से बीजेपी ने 150 पर कब्‍जा करने का लक्ष्‍य तय किया है.

मोदी लहर का मिलेगा लाभ 

बीजेपी ऐसा दो वजहों से कर सकती है. पहली वजह यह है कि पंजाब और गोवा के साथ-साथ आम आदमी पार्टी गुजरात में भी लंबे समय से हाथपांव मार रही है.

इस बार के विधानसभा चुनावों में पंजाब और गोवा में आप की उम्मीदों को गहरा झटका लगा है. जहां पंजाब में आप मुख्य विपक्षी दल बनने में सफल हुई वहीं गोवा में उसका खाता तक नहीं खुला.

गुजरात चुनाव में बीजेपी आप और कांग्रेस को पूरी ध्वस्त करने के इरादे से उतरेगी. मोदी लहर और बीजेपी कार्यकर्ताओं के भीतर पैदा हुए उत्साह को बीजेपी ठंडा नहीं होने देगी.

इस वजह से बीजेपी के नेतृत्व का मानना है कि अगर 2017 के अंत की बजाय अगर जून में चुनाव होते हैं तो गिरी हुई मनोबल वाली आप और कांग्रेस को रौंदने में उसे कोई खास दिक्कत नहीं होगी. साथ ही अप्रैल में होने वाले दिल्ली नगर निगम चुनावों की वजह से आप के अरविंद केजरीवाल समेत बड़े नेताओं को गुजरात में प्रचार का ज्यादा वक्त नहीं मिलेगा.

जल्‍दी चुनाव करवाने की दूसरी वजह पीछे जुलाई में होने वाले राष्‍ट्रपति चुनाव को भी माना जा रहा है. यूपी में प्रचंड जीत के बाद राज्‍यसभा में बीजेपी मजबूत हुई है.

इसके अलावा अगर गुजरात में भी लक्ष्‍य के अनुसार 140-150 सीटें आती हैं तो अपनी पसंद का राष्‍ट्रपति चुनने में बीजेपी को कोई खास दिक्‍कत नहीं आनी चाहिए. फिलहाल गुजरात विधानसभा में बीजेपी के पास 123 सीटें हैं और वह गुजरात में पिछले 19 सालों से लगातार सत्ता पर काबिज है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi