S M L

BJP में शामिल होने के लिए मिला था 1 करोड़ का ऑफर: हार्दिक के करीबी नेता

हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल ने दावा किया है कि बीजेपी में शामिल होने के लिए उन्हें एक करोड़ का ऑफर दिया गया था

FP Staff Updated On: Oct 23, 2017 10:47 AM IST

0
BJP में शामिल होने के लिए मिला था 1 करोड़ का ऑफर: हार्दिक के करीबी नेता

गुजरात विधानसभा सभा चुनाव से पहले बीजेपी के लिए एक नई मुसीबत खड़ी हो सकती है. हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल ने दावा किया है कि बीजेपी में शामिल होने के लिए उन्हें एक करोड़ का ऑफर दिया गया था. अहमदाबाद में रविवार आधी रात को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा कि उन्हें पाला बदलने को कहा गया था. बीजेपी में शामिल होने के लिए एक करोड़ रुपए का लालच दिया गया. इसके लिए बीजेपी नेताओं ने उन्हें 10 लाख रुपए एडवांस में दिए और वादा किया कि बाकी के 90 लाख रुपए उन्हें सोमवार को दे दिए जाएंगे.

हार्दिक पटेल के करीबी और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक नरेंद्र पटेल रविवार शाम करीब सात बजे बीजेपी में शामिल हुए थे. इसके कुछ घंटे बाद ही उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी पर ये आरोप लगाए. इस दौरान वे नोटों की गड्डी भी लेकर आए थे.

वहीं नरेंद्र पटेल द्वारा लगाए गए आरोपों पर वरुण पटेल का कहना है कि पाटीदार समाज फिर से बीजेपी की ओर जुड़ रहा है, हित के लिए मैं भी जुड़ा. ये सारे खेल कांग्रेस पार्टी खेल रही है. जो करना है हम करेंगे, जो एक्शन लेना है लेंगे.

उन्होंने आगे कहा कि 10 लाख लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की, उन्हें तो एक करोड़ लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी चाहिए थी. 10 लाख लेकर ही क्यों की

हार्दिक पटेल के करीबी वरुण पटेल और रेशमा पटेल ने भी शनिवार को बीजेपी ज्वॉइन की है. नरेंद्र पटेल का आरोप है कि वरुण पटेल ने बीजेपी में उनकी एंट्री में मदद की है.

इसके बाद नरेंद्र पटेल ने गुजरात बीजेपी के कई बड़े नेता और मंत्रियों के नाम बताए, जिनसे उन्होंने अहमदाबाद में मुलाकात की थी. उन्होंने कहा कि मुझे जीतूभाई वघानी और भूपेंद्र सिंह जी मनुभाई चुडासमा साहेब समेत बीजेपी के कई नेताओं से मिलवाया गया था. आपको बता दें कि जीतूभाई वघानी गुजरात बीजेपी प्रेसीडेंट और चुडासमा गुजरात विधानसभा के सदस्य हैं.

नरेंद्र पटेल के इस खुलासे के बाद हार्दिक पटेल गुट और कांग्रेस ने बीजेपी को घेरा है. हार्दिक पटेल के गुट का कहना है कि वे धीरे-धीरे सबूत सामने लाएंगे. बीजेपी वोट बैंक के लिए खरीद-फरोख्त का रास्ता अपना रही है. वहीं, कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी लगातार लोगों को खरीदने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस ने बताया कि राज्यसभा सदस्यता के चुनाव में भी बीजेपी ने ऐसी कोशिश की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi