S M L

नीच, जनेऊ, मशरूम: गुजरात चुनाव के ये बयान सालों याद रहेंगे

चुनाव के दौरान दिए गए कुछ बयान दशकों तक दोहराए जाते हैं

Updated On: Dec 18, 2017 10:59 AM IST

FP Staff

0
नीच, जनेऊ, मशरूम: गुजरात चुनाव के ये बयान सालों याद रहेंगे

चुनाव आते हैं, जाते हैं, बयान टिके रह जाते हैं. बयानों से न सिर्फ चुनावी नतीजों पर असर पड़ता है बल्कि लंबे समय तक इन बयानों को दोहराया जाता है. गुजरात चुनाव में भी ऐसे बयान खूब चर्चा में रहे.

नीच आदमी

2014 में मणिशंकर अय्यर ने नरेंद्र मोदी के लिए चायवाला बयान दिया था. इसके बाद कांग्रेस को चुनाव में काफी नुक्सान उठाना पड़ा. इस चुनाव में भी अय्यर ने नरेंद्र मोदी के लिए नीच शब्द का इस्तेमाल किया. हालांकि कांग्रेस ने इस बयान से पल्ला झाड़ने की पूरी कोशिश की मगर इसके असर से बच नहीं पाई.

पाकिस्तान और अहमद पटेल

नरेंद्र मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि पाकिस्तान चाहता है अहमद पटेल मुख्यमंत्री बनें. इसके साथ ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी वगैरह पर पाकिस्तान के पूर्व मंत्री के साथ गुप्त मीटिंग करने का आरोप लगाया.

मंदिर में नमाज़ और जनेऊधारी हिंदू

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राहुल गांधी मंदिर में ऐेसे बैठते हैं जैसे नमाज़ पढ़ रहे हों. इसके बाद राहुल गांधी के मंदिर में गलत रजिस्टर पर साइन करने के बाद उनके धर्म पर बवाल शुरू हुआ. कांग्रेस ने अपनी सफाई में कहा कि राहुल न सिर्फ हिंदू हैं बल्कि जनेऊधारी हिंदू हैं.

ताइवान का मशरूम

जनेऊ, पाकिस्तान और तमाम मुद्दे कम पड़ गए जब चुनाव प्रचार के आखिरी समय अल्पेश ठाकोर ने कहा, नरेंद्र मोदी दिन में पांच मशरूम खाते हैं और एक मशरूम 80,000 का होता है. इस बयान के बाद मशरूम को लेकर सोशल मीडिया पर भी खूब जडोक बने.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi