S M L

गुजरात चुनाव: हार्दिक, जिग्नेश, अल्पेश फैक्टर कितना असरकारी रहा

इन तीनों लोगों को मीडिया ने काफी कवरेज दी थी

Updated On: Dec 18, 2017 11:48 AM IST

FP Staff

0
गुजरात चुनाव: हार्दिक, जिग्नेश, अल्पेश फैक्टर कितना असरकारी रहा

गुजरात चुनाव में तीन नए चेहरों पर सबकी नज़र थी. अल्पेश ठाकोर जिग्नेश मेवाणी और हार्दिक पटेल. हार्दिक कम उम्र के कारण खुद चुनाव नहीं लड़ पाए. मगर उनकी चर्चा बाकी दोनों से कुछ ज्यादा रही. अब जब गुजरात चुनाव के नतीजे आ रहे हैं तो देखना रोचक है है कि इन तीनों का कितना असर गुजरात के नतीजों पर पड़ रहा है.

जिग्नेश मेवाणी

ऊना आंदोलन से चर्चा में आए जिग्नेश वडगाम से प्रत्याशी हैं. चुनाव प्रचार के दौरान उनपर कई आरोप लगे उन्हें हिंदू विरोधी और बाहरी बताया गया. निर्दलीय चुनाव लड़ रहे मेवाणी कांग्रेस का समर्थन पाए हुए हैं. इस सीट की दलित आबादी काफी ज्यादा है और 25 फीसदी मुस्लिम वोटर भी कांग्रेस के साथ हैं. ऐसे में ये सीट जिग्नेश के लिए सुरक्षित विकल्प था. मेवाणी फिलहाल जीत की तरफ आगे बढ़ते दिख रहे हैं.

अल्पेश ठाकोर

अल्पेश ओबीसी नेता हैं जो कांग्रेस में शामिल हो गए. उनकी अपनी सीट पर जीत को लेकर शंका जताई जा रही थी. राधनपुर से प्रत्याशी अल्पेश ने बाकी इलाकों में चाहे असर डाला हो या नहीं, अपनी सीट बताते दिख रहे हैं.

हार्दिक पटेल

हार्दिक पटेल खुद चुनाव नहीं लड़े मगर उनकी रैलियों में लोकप्रियता चर्चा का विषय रही. हार्दिक ने कांग्रेस को बड़ी राहत दी है. सौराष्ट्र और पाटीदार प्रभावी इलाकों में हार्दिक फैक्टर का असर साफ दिखा है. बीजेपी की 150 सीट के दावे को 105 के आसपास लाने में कहीं न कहीं हार्दिक पटेल फैक्टर ने काम किया है. बीजेपी के कई बड़े पटेल नेता भी पीछे चल रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi