Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

गुजरात चुनाव 2017: इनके लिए आज भी नरेंद्र मोदी हैं मुख्यमंत्री!

कुछ ही लोगों ने बीजेपी का नाम लिया और इसे मोदी की पार्टी बताया. जब उनसे कांग्रेस के बारे में पूछा गया तो वे सिर्फ इंदिरा गांधी को ही याद कर सके

Bhasha Updated On: Dec 12, 2017 09:58 PM IST

0
गुजरात चुनाव 2017: इनके लिए आज भी नरेंद्र मोदी हैं मुख्यमंत्री!

ऐसा लगता है कि गुजरात के कुछ आदिवासी इलाकों में समय ठहरा हुआ है. नरेंद्र मोदी को देश का प्रधानमंत्री बने तीन साल से ज्यादा हो चुके हैं. लेकिन यहां के लोगों के लिए मोदी ही अब भी राज्य के मुख्यमंत्री हैं.

छोटा उदयपुर जिले के भीतरी हिस्सों में राठवा जैसी अनुसूचित जनजाति के सदस्यों की खासी संख्या है. यहां मतदाताओं का कहना है कि वे राजनीति में तीन ही चीजें जानते हैं, मोदी, मोदी की पार्टी और कांग्रेस.

कुछ ही लोगों ने बीजेपी का नाम लिया और इसे मोदी की पार्टी बताया. जब उनसे कांग्रेस के बारे में पूछा गया तो वे सिर्फ इंदिरा गांधी को ही याद कर सके. 50 वर्षीय रामसिंह राठवा ने कहा, ‘मेरे पूर्वज हमेशा कांग्रेस को वोट देते थे लेकिन अब आसपास के लोग मोदी की पार्टी के उम्मीदवार को भी वोट देते हैं.’

रामसिंह अपने गांव कांडा के तीन लोगों के साथ छोटा उदयपुर में थे और उन्होंने कमल को मोदी की पार्टी का चुनाव चिह्न बताया लेकिन वह बीजेपी से अवगत नहीं थे. चार अन्य किसानों ने कहा कि उनके निर्वाचन क्षेत्र से कोई भी उम्मीदवार जीते, ‘मोदी एक बार फिर गुजरात के मुख्यमंत्री बनेंगे.’

छोटा उदयपुर क्षेत्र के ही एक अन्य गांव जोगपुरा के मतदाता दिलीप राठवा ने कहा कि मुकाबला कांग्रेस और मोदी के बीच है. उन्होंने कहा कि आम तौर पर ग्रामीण एक ही उम्मीदवार को वोट देते हैं और मोदी लोकप्रिय हैं लेकिन स्थानीय कांग्रेस नेता शादी जैसी मौकों पर आते हैं.

छोटा उदयपुर जिले की तीन सुरक्षित सीटों पर आदिवासी-मुस्लिम गठबंधन से कांग्रेस को फायदा हो सकता है. लेकिन स्थानीय बीजेपी नेताओं का मानना है कि मोदी के व्यक्तित्व से हमेशा पार्टी को जीतने में मदद मिली है. पावी जेतपुर में एक स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता रमेश पटेल इस बात से सहमत थे कि मुकाबला स्थानीय कांग्रेस उम्मीदवारों और मोदी की लोकप्रियता के बीच है.

Gujarat Election Results 2017

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi