S M L

गुजरात चुनाव: तीखी जुबानी जंग के बाद दूसरे दौर की वोटिंग जारी

दूसरे चरण के चुनाव में कुल 851 उम्मीदवार हैं जिनमें 782 पुरुष और 69 महिलाएं शामिल हैं

Updated On: Dec 14, 2017 08:52 AM IST

FP Staff

0
गुजरात चुनाव: तीखी जुबानी जंग के बाद दूसरे दौर की वोटिंग जारी

गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए 14 दिसंबर को दूसरे चरण की वोटिंग हो रही है. चुनाव आयोग की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक 14 जिलों की 93 विधानसभा सीटों के लिए वोट डाले जा रहे हैं.

चुनाव आयोग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक इस चरण में कुल 2 करोड़ 22 लाख 96 हजार 867 मतदाता हैं. इनमें पुरुष वोटर 1 करोड़ 15 लाख 47 हजार 435 हैं जबकि महिला वोटर 1 करोड़ 7 लाख 48 हजार 977 हैं.

वोटिंग सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगी. कुल 93 विधानसभा सीटों के लिए 25,558 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. दूसरे चरण के चुनाव में कुल 851 उम्मीदवार हैं. इनमें 782 पुरुष और 69 महिला उम्मीदवार हैं.

9 दिसंबर को हुए पहले चरण के चुनाव में करीब 68 फीसदी मतदान हुआ था. वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी. इस दिन गुजरात के अलावा हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के भी नतीजे आएंगे.

पहले चरण में तीखे चुनाव प्रचार का सिलसिला दूसरे चरण के समाप्त होने तक भी नहीं रुका. दूसरे चरण के चुनाव के ठीक एक दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक इंटरव्यू को लेकर चुनाव आयोग ने नोटिस दे दिया. इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि अगर आचार संहिता तोड़ने के लिए चुनाव आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस दिया तो पीए नरेंद्र मोदी को भी नोटिस क्यों भेजा गया. कांग्रेसी नेताओं का कहना रहा कि असली आचार संहिता का उल्लंघन तो बीजेपी की तरफ से किया जा रहा है.

दोनों तरफ से उछले कीचड़

इससे पहले भी दोनों दलों के बीच जुबानी जंग खूब चली. गुजरात में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बोले,' इस चुनाव में गुजरात की जनता ने दो काम अच्छे से करा दिया. डॉ. मनमोहन सिंह जी का मुंह खुलवा दिया और दूसरा राहुल गांधी को मंदिर जाना सिखा दिया.’ योगी आदित्यनाथ का ये बयाना पीएम मनमोहन सिंह के चुप्पी तोड़ने के बाद आया था. गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री लिखित में कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी को अपनी बातों के लिए माफी मांगनी चाहिए.

दूसरे चरण का चुनाव हार्दिक जिग्नेश और अल्पेश की तिकड़ी के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है. इसके अलावा कांग्रेस का भी गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों में खासा प्रभाव माना जाता है. इससे पहले हुए निकाय चुनावों में भी कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी. तो दूसरे चरण की 93 सीटों में नई राजनीतिक 'तिकड़ी' और कांग्रेस के लिए काफी प्रतिष्ठा वाली बात होगी.

बीजेपी के लिए ये चरण इस मायने महत्वपूर्ण है कि अक्सर उस पर ये ठप्पा लगाया जाता है कि वो शहरी पार्टी है. ऐसे में 22 साल के शासन के बावजूद भी अगर वो ग्रामीण इलाके बचाने में कामयाब हो जाती है तो ये पार्टी की आगे की राजनीति की रणनीति तय करने वाला होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi