S M L

J&K में नई सरकार की सुगबुगाहट, लोन की अगुआई में BJP से जुड़ेंगे कई बागी विधायक

अभी हाल में बीजेपी महासचिव राम माधव पीपल्स कॉन्फ्रेंस नेता सज्जाद लोन से मिले थे. लोन के बारे में कहा जा रहा है कि वे असंतुष्ट विधायकों का एक अलग मोर्चा बना सकते हैं

Updated On: Jul 03, 2018 01:06 PM IST

FP Staff

0
J&K में नई सरकार की सुगबुगाहट, लोन की अगुआई में BJP से जुड़ेंगे कई बागी विधायक

जम्मू-कश्मीर में बहुत जल्द एक नई सरकार दिख सकती है. हाल फिलहाल की कई घटनाएं इस संभावना की ओर इशारा करती हैं.

प्रदेश के सीनियर बीजेपी नेता और पूर्व उप-मुख्यमंत्री कविंदर गुप्ता ने न्यूज 18 को बताया कि कई असंतुष्ट विधायक आने वाले दिनों में बीजेपी का दामन थाम सकते हैं.

अभी हाल में बीजेपी महासचिव राम माधव पीपल्स कॉन्फ्रेंस नेता सज्जाद लोन से मिले थे. लोन के बारे में कहा जा रहा है कि वे असंतुष्ट विधायकों का एक अलग मोर्चा बना सकते हैं. इन अटकलों के बीच गुप्ता का बयान काफी अहम माना जा रहा है.

गुप्ता से न्यूज18 ने एक सवाल पूछा कि क्या पीडीपी के नाराज विधायक इमरान रजा अंसारी और आबिद अंसारी को बीजेपी ने तोड़ लिया है. इस पर गुप्ता ने कहा कि ये विधायक अपने पार्टी नेतृत्व से नाराज हैं और जल्द कोई नया मोर्चा बना सकते हैं.

महबूबा के खिलाफ पीडीपी विधायक

पीडीपी के पांच विधायकों ने रविवार को पार्टी नेतृत्व के खिलाफ आवाज उठाई थी और महबूबा मुफ्ती पर भाई-भतीजावाद की राजनीति करने का आरोप लगाया था. इनका यह भी दावा था कि वे पीडीपी में दम घुटने जैसा महसूस कर रहे हैं.

इमरान ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘महबूबा मुफ्ती ने पीडीपी को न केवल पार्टी के रूप में नाकाम किया बल्कि अपने दिवंगत पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के उन सपनों को तोड़ दिया जो उन्होंने देखे थे.’

उन्होंने राजनीति में नए उतरे तस्दुक मुफ्ती को इस साल कैबिनेट मंत्री बनाने और महबूबा के रिश्तेदार सरताज मदनी को पार्टी में अहम पद देने के बारे में कहा, ‘यह एक परिवार का शो बन गया था जिसे भाइयों, चाचाओं और अन्य रिश्तेदारों की ओर से चलाया जा रहा था. पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ‘फैमिली डेमोक्रेटिक पार्टी’ बन गई है.’

महबूबा की भाई-भतीजावाद की राजनीति

पीडीपी अध्यक्ष के एक अन्य रिश्तेदार फारूक अंद्राबी को भी कुछ समय के लिए मंत्री बनाया गया था. इमरान ने दावा किया कि उन्होंने महबूबा से कई बार कहा था कि ये रिश्तेदार ‘आपको नाकाम बनाएंगे’ लेकिन उन्होंने सरकार गिरने तक इस बात पर कोई ध्यान नहीं दिया. इमरान अंसारी पट्टन सीट से पीडीपी विधायक हैं जबकि उनके रिश्तेदार जादीबल क्षेत्र से पार्टी विधायक हैं.

19 जून को बीजेपी-पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद अटकलों का दौर जारी है कि बीजेपी कुछ विधायकों के साथ मिलकर नई सरकार बना सकती है.

1 जुलाई को विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री इमरान रजा अंसारी ने एक रैली में महबूबा मुफ्ती के खिलाफ कई आरोप लगाए थे. अंसारी एक प्रभावी शिया नेता हैं जिनकी चार विधानसभा क्षेत्रों पर अच्छी पकड़ मानी जाती है. अंसारी के अलावा चार और विधायक हैं जो महबूबा मुफ्ती से नाराज बताए जा रहे हैं. संयोग से इन विधायकों के सज्जाद लोन से अच्छे संपर्क हैं.

87 सदस्यों वाली जम्मू-कश्मीर विधानसभा में बीजेपी के 25 विधायक हैं. सरकार बनाने के लिए इसे और 19 विधायकों की जरूरत है. 28 विधायकों वाली पीडीपी के कई नाराज नेता बीजेपी से जुड़ सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi