S M L

गोवा उपचुनाव: मनोहर पर्रिकर के लिए कितना मुश्किल है ये चुनाव?

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के पांच महीने बाद मनोहर पर्रिकर पणजी विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं

Updated On: Aug 23, 2017 11:44 AM IST

FP Staff

0
गोवा उपचुनाव: मनोहर पर्रिकर के लिए कितना मुश्किल है ये चुनाव?

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के पांच महीने बाद मनोहर पर्रिकर पणजी विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. कांग्रेस नेता गिरीश चोदानकर से पर्रिकर की सीधी टक्कर देखी जा रही है. गोवा के मुख्यमंत्री की शपथ लेते वक्त पर्रिकर विधानसभा के सदस्य नहीं थे. जिसके बाद उन्होंने अपनी पुरानी सीट से ही चुनाव लड़ने का फैसला किया.

पणजी के अलावा गोवा के वलपोई सीट के लिए भी उपचुनाव हो रहे हैं. इस सीट पर कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेता आमने-सामने हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के बेटे विश्वजीत राणे वालपोई सीट से बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. इससे पहले राणे ने कांग्रेस की टिकट पर वालपोई से चुनाव जीता था. लेकिन बाद में उन्होंने इस्तीफा देकर बीजेपी का हाथ थाम लिया था. राणे के सामने वरिष्ठ कांग्रेस नेता रवि नाइक के पुत्र रॉय नाइक हैं. रवि नाइक ने अपने बेटे के लिए जोरदार प्रचार किया है. वहीं दूसरी तरफ विश्वजीत के पिता प्रतापसिंह राणे ने उनके लिए कोई प्रचार नहीं किया. दोनों सीटों के नतीजे 28 अगस्त को घोषित किए जाएंगे.

पणजी गोवा की राजधानी है. 1994 से यह सीट गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की पसंदीदा सीट है. पर्रिकर ने पहला चुनाव पणजी सीट से ही जीता था इसलिए पर्रिकर के लिए यह चुनाव साख का सवाल बन गया है. गोवा के मुख्यमंत्री पांच बार इस सीट से गोवा विधानसभा पहुंच चुके हैं. 2012 में इस सीट से पर्रिकर ने कांग्रेस उम्मीदवार को 6,000 वोटों से हराया था. अब एक बार फिर पर्रिकर इस सीट से मैदान में हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi