S M L

'भारत तेरे टुकड़े होंगे' के नारे मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता : गिरिराज सिंह

'भारत माता के दो टुकड़े होंगे' जो लोग कहते हैं उन्हें मुबारक. मैं सब कुछ त्याग कर सकता हूं. लेकिन, ये नहीं बर्दाश्त नहीं कर सकता

Updated On: Mar 23, 2018 05:53 PM IST

Amitesh Amitesh

0
'भारत तेरे टुकड़े होंगे' के नारे मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता : गिरिराज सिंह

बीजेपी के फायर ब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बड़ा बयान दिया है. फर्स्टपोस्ट से बातचीत के दौरान गिरिराज सिंह ने साफ-साफ शब्दों में जता दिया कि अररिया को लेकर अपने दिए गए बयान को लेकर वो पीछे हटने वाले नहीं हैं. भले ही उन्हें इसकी कोई भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े.

गिरिराज सिंह ने स्पष्ट कहा कि ‘अगर कोई नारा लगाए कि पाकिस्तान जिंदाबाद और भारत तेरे टुकड़े होंगे तो मैं चुप नहीं बैठूंगा. मैं राजनीति से इस्तीफा दे सकता हूं, मैं पद से इस्तीफा दे सकता हूं. लेकिन, यह बर्दाश्त नहीं कर सकता.’

'भारत तेरे टुकड़े होंगे' बर्दाश्त नहीं

उन्होंने आगे कहा कि क्या हमारे पूर्वजों ने, शहीद भगत सिंह ने इसी दिन के लिए आजादी दिलाई थी ? पाकिस्तान और हिंदुस्तान का बंटवारा हुआ था. भारत माता के दो टुकड़े किए गए. ये जो लोग कहते हैं उन्हें मुबारक. मैं सब कुछ त्याग कर सकता. लेकिन, ये नहीं बर्दाश्त नहीं कर सकता. उन्होंने कहा कि ‘मेरे कारण अगर कहीं एनडीए बाधक होगा तो सरकार और संसदीय राजनीति से अलग हो जाउंगा, लेकिन, इसे बर्दाश्त नहीं कर सकता.’

ये भी पढ़ें: आप विधायक मामला: प्रणब मुखर्जी के एक इनकार से 'अयोग्य' हो गए थे 20 MLA

बातचीत के दौरान उन्होंने इसे स्वीकार भी किया कि वो बहुत बड़ा बयान दे रहे हैं. लेकिन, उन्होंने कहा कि वो सोच-समझ कर बयान दे रहे हैं. केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘अगर भारत तेरे टुकड़े होंगे, पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगेंगे तो उस पर गिरिराज सिंह जैसे लोग प्रतिकार करेंगे. उसके खिलाफ आवाज उठाएंगे. चाहे इसका हमें जो खामियाजा भुगतना पड़े. अगर हमारे कारण गठबंधन को नुकसान होता है तो मैं हर पद से हटने को तैयार हूं, लेकिन, इस नारे का प्रतिकार करूंगा.’

giriraj singh

एलजेपी और पासवान को करारा जवाब

गिरिराज सिंह का बयान एलजेपी सांसद चिराग पासवान के बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि गिरिराज सिंह और अश्विनी चौबे जैसे लोगों के बयान से सरकार की छवि खराब होती है. चिराग ने कहा था कि इस तरह के बयानों से परसेप्शन खराब हो जाता है.

पासवान की टिप्पणी पर गिरिराज सिंह ने साफ कर दिया कि वो हर हाल में अपने रुख पर कायम रहेंगे और इस तरह के अगर बयान फिर से दिए जाएंगे जो कि अररिया में आरजेडी की जीत के बाद देखने को मिला था, तो वो वही तेवर अपनाएंगे.

आरजेडी ने भी गिरिराज सिंह के बयान को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी. अररिया और दरभंगा की घटना के बाद उनके बयानों के बाद आरजेडी की तरफ से राबड़ी देवी ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी. गिरिराज सिंह ने आरजेडी के इस कदम को चोरी और सीनाजोरी बताया.

आरजेडी की चोरी और सीनाजोरी भी

उनका कहना था कि ‘ये चोरी और सीनाजोरी हुई. समाज में माहौल बिगाड़ने का काम आरजेडी ने शुरू किया. अररिया में चुनाव के पहले वे जहर घोल रहे थे. चुनाव के बाद अगर वह वीडियो नहीं आता और खुद आरोपी नहीं मानता तो क्या आरोप लगता. चुनाव जीतने के पहले और जीतने के बाद माहौल खराब करने का  काम आरजेडी ने किया. और सीनाजोरी भी, कहा कि वो तो बीजेपी का कार्यकर्ता है, लेकिन, उसने मान लिया तो जुबान बंद हो गई.’

उन्होंने कहा कि अररिया में आरजेडी की जीत के बाद नारे लग रहे थे भारत मुर्दाबाद, भारत तेरे टुकड़े होंगे, पाकिस्तान जिंदाबाद. ये माहौल खराब कौन कर रहा है.

उन्होंने कहा कि ‘दरभंगा में रामचंद्र यादव की हत्या इसलिए कर दी गई क्योंकि उसने मोदी चौक नाम रखा. लोकतंत्र में इतना भी अधिकार नहीं देंगे आप. आप इतने बलिष्ठ हो गए. सामाजिक समरसता के नाम पर लोगों की जुबान बंद कर देंगे. लोगों की जुबान बंद कर देंगे और कहेंगे कि गिरिराज सिंह और अश्विनी चौबे माहौल बिगाड़ रहे हैं.’

 

कट्टरपंथ खड़ा कर रही आरजेडी

Lalu Yadav with his Family

प्रतीकात्मक तस्वीर

गिरिराज सिंह ने कहा कि ‘मेरा बयान किसी भी तरह से गलत नहीं है. इसका प्रत्यक्ष प्रमाण सामने आ गया. वही तो मैं कह रहा हूं. अगर वो वीडियो नहीं आता तो ये मुझपर आरोप लगाते. चुनाव में भी खास समुदाय के लोगों ने जहर घोलने का काम किया. चुनाव जीतने के लिए आरजेडी ने, मैं आज भी कह रहा हूं कि कट्टरपंथ का नया प्लेटफॉर्म, नया मैदान खड़ा कर रहा है जो केवल बिहार के लिए नहीं पूरे देश के लिए घातक होगा.’

ये भी पढ़ें : फेसबुक डेटा लीक साल 2019 के चुनाव में बनेगा बड़ा सियासी मुद्दा?

हालाकि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर गिरिराज सिंह नपा-तुला बयान दे रहे हैं. राज्य में सांप्रदायिक माहौल को लेकर दिए गए उनके बयान पर गिरिराज सिंह ने कहा कि उनका बयान एक मुख्यमंत्री के नाते एक निष्पक्ष बयान है. जो भी माहौल खराब करने की कोशिश करेंगे, उनके  खिलाफ कार्रवाई करेंगे. लेकिन देखना होगा कि माहौल खराब किसने किया.

बिहार के उपचुनाव के नतीजों के बाद से ही माहौल इतना गरमा गया है. खलबली एनडीए के भीतर भी है. लेकिन, गिरिराज सिंह इसे बिहार में एनडीए की हार नहीं मान रहे हैं. उनका कहना है कि बिहार में कोई हार नहीं हुई है. मुद्रिका यादव आरजेडी के विधायक थे, उनकी जीत हुई, लेकिन, भभुआ में हम पिछली बार की तुलना में दोगुने मार्जिन से जीते थे. अररिया में छह में से चार विधानसभा में बीजेपी जीती. दो विधानसभा क्षेत्र में एक खास समुदाय के लोगों ने जिस तरह से माहौल बिगाड़ा उससे हम हारे, लेकिन बिहार मे एनडीए नहीं हारा.

अब गिरिराज सिंह 24 मार्च को फिर बिहार पहुंच रहे हैं. लेकिन, उन्होंने साफ कर दिया है कि चाहे उनके सहयोगी हों या उनके विरोधी उनपर कितना भी प्रहार करें वो अपने स्टैंड से कदम पीछे नहीं हटाएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi