S M L

'हिंदुस्तान की बेटी' गीता अब कभी पाकिस्तान नहीं भेजी जाएगी : सुषमा स्वराज

'गीता के माता-पिता की तलाश के लिए पिछले तीन साल से मैं खुद जी-तोड़ मेहनत कर रही हूं. चूंकि वह विवाह के योग्य हो गयी है. इसलिए हम उसकी शादी कराने की भी कोशिश कर रहे हैं.'

Updated On: Nov 20, 2018 08:55 PM IST

Bhasha

0
'हिंदुस्तान की बेटी' गीता अब कभी पाकिस्तान नहीं भेजी जाएगी : सुषमा स्वराज

पाकिस्तान से तीन साल पहले भारत लौटने वाली मूक-बधिर युवती गीता के माता-पिता की खोज आज तक जारी है. इस बीच विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने मंगलवार को कहा कि गीता को पड़ोसी मुल्क कभी नहीं भेजा जाएगा.

स्वराज ने कहा, 'गीता हिंदुस्तान की बेटी है. हिंदुस्तान में उसके परिवारवाले मिलें या न मिलें, वह दोबारा पाकिस्तान कभी नहीं भेजी जाएगी. उसकी देखभाल भारत सरकार ही करेगी.'

उन्होंने कहा, 'गीता के माता-पिता की तलाश के लिए पिछले तीन साल से मैं खुद जी-तोड़ मेहनत कर रही हूं. चूंकि वह विवाह के योग्य हो गयी है. इसलिए हम उसकी शादी कराने की भी कोशिश कर रहे हैं.'

विदेश मंत्री ने बताया कि गीता के माता पिता होने का दावा करने वाले आठ दम्पतियों के डीएनए सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे. लेकिन जांच में पाया गया कि उनका डीएनए गीता के डीएनए से मेल नहीं खाता. इनके अलावा, कई ऐसे दम्पति भी सामने आए जिन्होंने गीता को अपनी गुमशुदा बेटी तो बताया, लेकिन जांच के लिए उन्होंने सरकार को अपने डीएनए सैंपल देने से मना कर दिया.

मध्यप्रदेश सरकार के देखरेख में है गीता:

उन्होंने कहा, 'गीता जब पाकिस्तान में थी, तब उसने हमारे द्वारा भेजी गयी फोटो देखकर एक भारतीय परिवार की पहचान अपने बिछड़े परिवार के रूप में की थी. लेकिन भारत वापसी के फौरन बाद युवती ने संबंधित दम्पति के बारे में कहा था कि वे उसके माता-पिता नहीं हैं.'

गीता, मध्यप्रदेश सरकार के सामाजिक न्याय और नि:शक्त कल्याण विभाग की देखरेख में इंदौर की एक गैर सरकारी संस्था के आवासीय परिसर में रह रही है. वह सात-आठ साल की उम्र में पाकिस्तानी रेंजर्स को समझौता एक्सप्रेस में लाहौर रेलवे स्टेशन पर मिली थी. गलती से सरहद पार पहुंचने वाली यह मूक-बधिर लड़की गीता भारत की विदेश मंत्री के विशेष प्रयासों के कारण 26 अक्तूबर 2015 को स्वदेश लौटी थी.

भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव की पाकिस्तान की जेल से रिहाई के लिए भारत के प्रयासों के बारे में पूछे जाने पर स्वराज ने कहा, 'हमने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) से जाधव की फांसी पर स्थगन का आदेश ले रखा है. आगामी फरवरी में इस मामले की फिर सुनवाई होने वाली है. हमने परसों भी (पाकिस्तान से) जाधव तक राजनयिक पहुंच मांगी है.'

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi