S M L

दिल्ली में धरना पॉलिटिक्स का पांचवां दिन, एलजी हाउस के अंदर चार एंबुलेंस तैनात

पांचवे दिन दोपहर होते-होते दिल्ली के राजनिवास में एंबुलेंस की चार गाड़ियां पहुंच गईं. एंबुलेंस के साथ डॉक्टरों की एक टीम भी पहुंची

Ravishankar Singh Ravishankar Singh Updated On: Jun 15, 2018 06:36 PM IST

0
दिल्ली में धरना पॉलिटिक्स का पांचवां दिन, एलजी हाउस के अंदर चार एंबुलेंस तैनात

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और उनके तीन सहयोगियों का धरना-प्रदर्शन और अनशन का शुक्रवार को पांचवां दिन है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और गोपाल राय जहां धरना दे रहे हैं वहीं मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन अनशन पर बैठे हैं. पांचवें दिन भी अरविंद केजरीवाल अपनी टीम के साथ जमे हुए हैं. लेकिन, पांचवें दिन अरविंद केजरीवाल और उनके सहयोगियों को आशंका सताने लगी है कि उन्हें एलजी हाउस से जबरन निकाल दिया जाएगा.

पिछले पांच दिनों से अपनी तीन मांगों को लेकर अरविंद केजरीवाल और उनके तीन सहयोगियों का धरना और अनशन चल रहा है. पांच दिन से चल रहे इस धरना प्रदर्शन और अनशन का अंत कैसा होगा यह किसी को भी मालूम नहीं है. लेकिन, सीएम अरविंद केजरावल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा है कि उन्हें आशंका है कि उनको एलजी हाउस से जबरन हटा दिया जाएगा.

पांचवे दिन दोपहर होते-होते दिल्ली के राजनिवास में एंबुलेंस की चार गाड़ियां पहुंच गईं. एंबुलेंस के साथ डॉक्टरों की एक टीम भी पहुंची. राजनिवास में एंबुलेंस पहुंचने के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है. अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट में कहा है कि जानबूझ कर उनको धरना स्थल से हटाने की साजिश रची जा रही है. मनीष सिसोदिया ने भी ट्वीट किया है अगर उनको यहां से हटा दिया जाता है तो वह जल भी त्याग देंगे.

दिल्ली में डोर टू डोर कैंपेन कर के 10 लाख चिट्ठियां पीएम के पास भेजी जाएंगी

दूसरी तरफ दिल्ली सचिवालय में आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा और बीजेपी के नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता, अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा और बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा का धरने का भी आज तीसरा दिन है. इन लोगों ने भी दिल्ली सचिवालय में धरना कर रखा है.

आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा अपने ट्विटर अकाउंट से लगातार ट्वीट कर अरविंद केजरीवाल पर हमला बोल रहे हैं. बीजेपी के नेता भी अरविंद केजरीवाल के धरना प्रदर्शन पर सवाल खड़े कर रहे हैं. गुरुवार को बीजेपी के विधायक और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने सचिवालय के अंदर 40 फीट लंबा बैनर के साथ प्रदर्शन किया. इस बैनर में लिखा था, ‘दिल्ली सचिवालय में कोई हड़ताल नहीं है. दिल्ली के सीएम छुट्टी पर हैं.’

कुल मिलाकर दिल्ली का राजनीतिक तापमान उफान पर है और जनता त्रस्त है. दिल्ली में शुक्रवार शाम आम आदमी पार्टी के विधायकों और सासंदों की बैठक होने वाली है, जिसके बाद आम आदमी पार्टी दिल्ली में डोर-डोर राशन डिलिवरी योजना की मंजूरी के लिए पूरे दिल्ली में गांधीगिरी और सिग्नेचर कैंपेन शुरू करने जा रही है. आम आदमी पार्टी योजना बना रही है कि दिल्ली में डोर टू डोर कैंपेन कर के 10 लाख चिट्ठियां पीएम के पास भेजी जाएंगी.

दिल्ली की राजनीतिक घटनाक्रम पर लगातार ट्वीट हो रहे हैं. आप नेताओं के भी लगातार बयान आ रहे हैं. आप नेता दिलीप पांडे का कहना है कि 17 जून को पूरी दिल्ली के लोग पीएम आवास के तरफ जाकर अपना विरोध प्रदर्शन करेंगे. दिलीप पांडे ने कहा है कि हमलोग पीएम से ये पूछेंगे की दिल्ली के साथ इस तरह का बर्ताव क्यों किया जा रहा है?

दिल्ली में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच चल रही इस नूरा-कुश्ती को लेकर दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने भी कटाक्ष किया है. शीला दीक्षित ने अरविंद केजरीवाल और उनके सहयोगियों के द्वारा धरना दिए जाने को मजाक बताया है. शीला दीक्षित ने कहा है कि हमारी सरकार जब दिल्ली में थी तो केंद्र में बीजेपी की ही सरकार थी. इसके बावजूद उस समय हमने दिल्ली में पानी के लिए काफी काम किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi