S M L

अखिलेश प्रसाद सिंह को राज्यसभा उम्मीदवार बनाना कांग्रेस के लिए ठीक नहीं- चौधरी

बिहार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहे अशोक ने दावा किया पार्टी का रैंक और फाइल चाहे वह विधायक या पार्टी का कैडर हो, अखिलेश को कभी स्वीकार नहीं करेंगे

Bhasha Updated On: Mar 11, 2018 08:21 PM IST

0
अखिलेश प्रसाद सिंह को राज्यसभा उम्मीदवार बनाना कांग्रेस के लिए ठीक नहीं- चौधरी

पूर्व मंत्री अशोक कुमार चौधरी ने रविवार को दावा किया कि कांग्रेस द्वारा पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश प्रसाद सिंह को बिहार से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया गया तो इस दल के लिए दुभार्ग्यपूण होगा.

बिहार विधान परिषद सदस्य दिलीप कुमार चौधरी, रामचंद्र भारती और तनवीर अख्तर के साथ संवाददाता सम्मेलन में चौधरी ने दावा किया कि कांग्रेस द्वारा पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश प्रसाद सिंह को बिहार से राज्यसभा का उम्मीदवार बनाया गया तो इस दल के लिए दुभार्ग्यपूण होगा.

यह पूछे जाने पर क्या ऐसा किए जाने पर बिहार प्रदेश कांग्रेस में और भी टूट होगी, अशोक ने कहा कि राज्यसभा सीट के लिए नामांकन का अंतिम तारीख तक का इंतजार कीजिए.

जेडीयू के अनिल कुमार, वशिष्ठ नारायण सिंह और महेंद्र प्रसाद, बीजेपी के धमेंद्र प्रधान और रविशंकर प्रसाद का कार्यकाल आगामी 2 अप्रैल को पूरा होने और पार्टी विरोधी गतिविधियों को लेकर जेडीयू के अली अनवर की सदस्यता समाप्त किए जाने से राज्यसभा की रिक्त होने वाली बिहार से छह सीटों पर आगामी 23 मार्च को चुनाव होना है.

केंद्र की यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान आरजेडी कोटे से मंत्री रहे अखिलेश प्रसाद सिंह को उम्मीदवार बनाए जाने की चर्चा पर कांग्रेस पार्टी में नाराजगी की वजह पूछे जाने पर बिहार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहे अशोक ने दावा किया पार्टी का रैंक और फाइल चाहे वह विधायक या पार्टी का कैडर हो, अखिलेश को कभी स्वीकार नहीं करेंगे.

उन्होंने कहा कि ऐसा होने पर यह संदेश जाएगा कि कांग्रेस आरजेडी की पूरी तरह से बी टीम बन गई है.

अशोक ने आरोप लगाया कि आरजेडी छोड़ कांग्रेस में शामिल होने के बाद पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश ने जिन विधायकों को पार्टी टिकट मिलने पर 'अडंगा' लगाया था. उन्हें पार्टी द्वारा उम्मीदवार बनाने जाने पर बिहार प्रदेश कांग्रेस के भीतर रोष उत्पन्न होगा.

यह पूछे जाने पर कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार और राजीव शुक्ला के नाम पर भी बिहार प्रदेश कांग्रेस के बीच मतभेद हो सकते हैं, चौधरी ने कहा कि उनकी समझ में इन लोगों के नामों पर पार्टी में कोई आपत्ति नहीं जताएगा.

243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में वर्तमान में आरजेडी के 79, जेडीयू के 70, बीजेपी के 52, कांग्रेस के 27, सीपीआई एमएल के तीन, एलजेपी और आरएलएसपी के दो—दो, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा सेक्युलर के एक और चार निर्दलीय विधायक हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
WHAT THE DUCK: Zaheer Khan

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi