S M L

लालू से मिलने को लड़ रहे हैं नेता, जेल के बाहर लगा बैरिकेडिंग

जेल सुपरिटेंडेंट अशोक चौधरी ने कहा लालू से सप्ताह में तीन लोग ही मिल सकते हैं. इसके लिए सुबह 8 से 12 बजे तक लोग उनसे मिल सकते हैं

Updated On: Dec 25, 2017 04:54 PM IST

FP Staff

0
लालू से मिलने को लड़ रहे हैं नेता, जेल के बाहर लगा बैरिकेडिंग

लालू यादव जेल से बाहर रहें या जेल में, मिलनेवालों की संख्या कम नहीं होती. चारा घोटाले में सजा होने के बाद वो रांची के होटवार जेल में बंद हैं. सोमवार को उनसे मिलने वाले लोगों की भीड़ जेल के बाहर लग गई.

बढ़ती भीड़ और हंगामा देख पुलिस प्रशासन ने जेल के बाहर 300 मीटर पहले बैरिकेडिंग कर दी है. जेल सुपरिटेंडेंट अशोक चौधरी ने कहा लालू से सप्ताह में तीन लोग ही मिल सकते हैं. इसके लिए सुबह 8 से 12 बजे तक लोग मुलाकात कर सकते हैं.

पहले दिन केवल पांच लोगों को मिलने दिया गया. इसमें आरजेडी की राष्ट्रीय महासचिव और झारखंड की पूर्व मंत्री अन्नपूर्णा देवी, लालू प्रसाद के वकील प्रभात कुमार, राजद नेता अवध बिहारी, भाेला प्रसाद और रणविजय सिंह शामिल हैं.

पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप   

जेल से मिलकर लौटने के बाद पूर्व मंत्री अन्नपूर्णा देवी ने कहा कि राज्य सरकार पक्षपातपूर्ण व्यवहार कर रही है. लालू प्रसाद से लोगों को मिलने नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार ऐसे बर्ताव कर रही है जैसे लालू प्रसाद कोई जननेता नहीं बल्कि उग्रवादी हों. राज्य सरकार का यह बेहद गलत रवैया है. पूर्व मंत्री ने जेल प्रशासन से लालू के परिजनों को मुलाकात करने देने की अनुमति मांगी.

इससे पहले रविवार को आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह सहित कई अन्य नेता और समर्थक जेल के बाहर नारेबाजी कर चुके हैं. उनका भी यही कहना था कि लालू आम कैदी नहीं हैं. वो जननेता हैं, उनसे अधिक लोगों को मिलने दिया जाना चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi