S M L

लोकसभा चुनाव में पंजाब में कुछ लोग धोखा खा गए थे: नरेंद्र सिंह तोमर

हर हाल में पंजाब में बीजेपी और अकाली दल गठबंधन की सरकार बनेगी.

Updated On: Jan 15, 2017 11:13 AM IST

Amitesh Amitesh

0
लोकसभा चुनाव में पंजाब में कुछ लोग धोखा खा गए थे: नरेंद्र सिंह तोमर

बीजेपी के पंजाब चुनाव के प्रभारी और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने साफ किया है कि हर हाल में पंजाब में बीजेपी और अकाली दल गठबंधन की सरकार बनेगी.

तोमर का दावा है कि पंजाब के लोग पहले भी कांग्रेस की तरफ से कैप्टन अमरिंदर सिंह को देख चुके हैं लिहाजा इस बार भी कैप्टन के आने से कुछ खास असर नहीं पड़ेगा.

हालाकि, पंजाब में जोर-शोर से लगे आप पर तीखा प्रहार करते हुए नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि पंजाब के लोग लोकसभा चुनाव के वक्त केजरीवाल से धोखा खा चुके हैं. लेकिन अब दोबारा आप से धोखा नहीं खा सकते हैं.

पंजाब चुनाव और वहां बीजेपी-अकाली दल गठबंधन की संभावनाओं पर नरेंद्र सिंह तोमर ने फर्स्टपोस्ट संवाददाता अमितेश से खास बातचीत की. 

सवाल-पंजाब में बीजेपी की संभावना को कैसे देखते हैं.

जवाब-पंजाब में बीजेपी और शिरोमणि अकाली दल की सरकार ने बेहतर काम किया है और हमें पंजाब जाने का मौका मिला है. मैंने देखा है कि पंजाब सरकार ने पिछले दो टर्म में जिस तरीके से पंजाब का विकास किया है उसकी उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच हम जाएंगे.

इसके अलावा, केन्द्र की हमारी सरकार की उपलब्धियों को लेकर भी हम जनता के बीच जाने वाले हैं. हम मानते हैं कि एक बार फिर से पंजाब में हमारे गठबंधन की सरकार बनेगी.

सवाल- आपकी सहयोगी अकाली दल के कई नेताओं के उपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, आपको नहीं लगता इससे नुकसान होगा आपको. पंजाब में ड्रग्स के बढ़ते अवैध कारोबार और प्रभाव को भी विरोधी दल मुद्दा बना रहे हैं.

जवाब- हम मनोबल के साथ चुनाव लड़ रहे हैं. हमें नहीं लगता कि इससे किसी तरह की कोई परेशानी होगी. हम पंजाब में चुनाव मजबूती से लड़ेंगे और एक बार फिर हमारे गठबंधन की सरकार बनेगी.

पिछली बार भी ऐसा ही कहा जा रहा था लेकिन, हमने बड़ी जीत दर्ज की थी. इस बार भी पंजाब में हमारी सरकार बनेगी.

सवाल- कांग्रेस की तरफ से कैप्टन अमरिंदर सिंह इस बार सर्वेसर्वा हैं. पंजाब चुनाव में कांग्रेस की अगुवाई कर रहे हैं. उनके सामने आने के बाद माना जा रहा है कि कांग्रेस का ग्राफ बढा है.

जवाब- पहली बार कैप्टन अमरिंदर सिंह लीड नहीं कर रहे हैं. इसके पहले भी वो लीड कर चुके हैं. तो मुझे नहीं लगता कि इस बार उनके लीड करने से कोई बहुत बड़ा उत्साह खड़ा हो जाएगा और कांग्रेस आने निकल जाएगी.

सवाल- नवजोत सिंह सिद्धू बीजेपी के स्टार प्रचारक रहे हैं. पंजाब में पार्टी के एक बड़े चेहरे के रूप में सामने रहे हैं. ऐसे में बीजेपी के लिए उनकी कमी की भरपाई करना आसान नहीं होगा. पार्टी के सामने इस वक्त कोई बड़ा चेहरा पंजाब में नहीं दिख रहा है.

जवाब- नवजोत सिंह सिद्धू अब बीजेपी के सदस्य नहीं हैं. पहले थे लेकिन अब उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. यह बात अब इतिहास हो चुकी है. तो इस बात पर बोलने का कोई मतलब नहीं है. अगर वो चुनावी मैदान में आते हैं, तो बीजेपी उनके खिलाफ चुनाव लड़ेगी.

सवाल- आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पंजाब में अपना पांव पसारने में लगे हैं. लोकसभा चुनाव के वक्त पंजाब में अप्रत्याशित जीत मिली थी, 4 सीटों पर उनकी पार्टी जीत हासिल कर चुकी है. इस बार पंजाब में सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं

जवाब- लोकसभा चुनाव में पंजाब में कुछ लोग धोखा खा गए थे. उनको लग रहा था कि दिल्ली में इनकी सरकार है तो शायद कुछ होगा. लेकिन जिस तरह से दिल्ली में केजरीवाल ने सरकार दी है उससे

पंजाब के लोग भी समझ गए हैं. पंजाब के लोग समझदार हैं वो इस बार उनका साथ नहीं देंगे.

सवाल- दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जिस तरीके से बयान दिया था, उसके बाद माना गया कि अरविंद केजरीवाल ही पंजाब में आप के मुख्यमंत्री पद के चेहरे होंगे, फिर बाद में केजरीवाल ने यू-टर्न ले लिया. किस तरह से देखते हैं इस रणनीति को.

जवाब- मनीष सिसौदिया ने इस तरह का कोई बयान नहीं दिया था. उनके कहने का मतलब कुछ और था. बाद में उनकी तरफ से और केजरीवाल की तरफ से सफाई भी आ गई.

सवाल- बीजेपी की तरफ से कई सीटिंग एमएलए का टिकट काट दिया गया है. क्या ऐसा कर बीजेपी एंटीइंकंबेंसी को कम करना चाहती है.

जवाब- पार्टी की रणनीति का हिस्सा है. हालाकि ज्यादा विधायकों के टिकट नहीं काटे गए हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi