live
S M L

उपवास बीजेपी की विचारधारा के खिलाफ है, हम 2019 में उन्हें हरा देंगे: राहुल

पूरे देश में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सभी राज्य मुख्यालयों और जिला मुख्यालयों पर उपवास रखा

Updated On: Apr 09, 2018 06:18 PM IST

FP Staff

0
उपवास बीजेपी की विचारधारा के खिलाफ है, हम 2019 में उन्हें हरा देंगे: राहुल

\कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘जातिवादी’ और ‘दलित विरोधी’ होने का आरोप लगाया और कहा कि बीजेपी की ‘दमनकारी’ विचाराधारा के खिलाफ उनकी पार्टी हमेशा खड़ी रहेगी.

राहुल ने राजघाट पर सद्भावना उपवास के मौके पर कहा, 'पूरा देश जानता है कि प्रधानमंत्री मोदी दलित विरोधी हैं. यह छुपा नहीं है. बीजेपी दलितों, आदिवासियों और अल्पसंख्यकों का दमन करने की विचारधारा का अनुसरण करती है. हम उसके खिलाफ खड़े होंगे और साल 2019 के आम चुनाव में उसे पराजित करेंगे.'

राहुल गांधी ने जातीय हिंसा, सांप्रदायिकता और संसद नहीं चलने के खिलाफ तथा देश में शांति एवं सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए आज कांग्रेस के देशव्यापी दिनभर के अनशन का नेतृत्व किया. कांग्रेस जातीय हिंसा, सांप्रदायिकता और संसद नहीं चलने के लिए सत्ताधारी बीजेपी को जिम्मेदार मानती है.

राहुल गांधी यहां राजघाट पर कई घंटे तक उपवास पर बैठे. वहां उनके साथ कमलनाथ, मल्लिकार्जुन खड़गे, शीला दीक्षित, अशोक गहलोत, अजय माकन तथा पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे.

वैसे इस सद्भावना उपवास पर 1984 के सिख विरोधी दंगे की छाया भी पड़ी तथा इस दंगे के कथित आरोपियों- सज्जन कुमार और जगदीश टाइटलर को मंच से चले जाने को कहा गया जहां राहुल गांधी एवं अन्य नेता बैठे थे.

कुमार के चले जाने के शीघ्र बाद टाइटलर दर्शकों के बीच पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठ गए. पूरे देश में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सभी राज्य मुख्यालयों और जिला मुख्यालयों पर उपवास रखा.

ब्रिटिशों की तरह बीजेपी भी लोगों को बांटती है

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सद्भावना के लिए उपवास बीजेपी की सांप्रदायिक राजनीति एवं संसद के नहीं चलने के विरुद्ध भी है जहां कांग्रेस पीएनबी बैंक घोटाले, सीबीएसई प्रश्नपत्र लीक, अनुसूचित जाति.जनजाति कानून को कथित रुप से शिथिल बनाये जाने, आंध्रप्रदेश को विशेष दर्जे तथा कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड पर चर्चा करना चाहती थी.

सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, 'यह उस विचाराधारा और मूल्यों के लिए लड़ाई है जिसका भारत प्रतिनिधित्व करता है. हम वोट की खातिर की जा रही नफरत एवं विभाजन की राजनीति को सफल नहीं होने देंगे.

उन्होंने कहा, 'ब्रिटिशों की भांति ही वर्तमान बीजेपी सरकार की ‘बांटो और राज करो’ की नीति है. समाज केा बांटो, धर्मों को बांटो, समुदायों को बांटों, जातियों को बांटो, यही मोदी सरकार का डीएनए है.'

उन्होंने कहा कि सरकार ने देश को धार्मिक आधार पर बांट दिया है और अब वह दलित एवं गैर दलितों में बांटने का प्रयास कर रही है.

उन्होंने कहा कि पूरे देश में लोगों तक यह संदेश पहुंचाने के लिए कांग्रेस उपवास कर रही है कि वे मोदी सरकार की विभाजनकारी तरकीबों में न फंसे. देश की आजादी के लिए लड़ने वाली कांग्रेस का यह कर्तव्य है कि वह समाज में विविधता और बहुलता के साथ ही परस्पर भाईचारा, एक दूसरे के प्रति प्यार और सम्मान सुनिश्चित करे.

जब सुरजेवाला से कुमार और टाइटलर को लेकर उत्पन्न विवाद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बीजेपी के कुछ षडयंत्रकर्ता हर छोटी या बड़ी चीज में मतलब निकालने का प्रयास करते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi