S M L

मोसुल से ध्यान हटाने को जोड़ा गया हमारा नाम: FB स्कैंडल पर राहुल

फेसबुक डेटा लीक मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर पलटलवार किया

Updated On: Mar 22, 2018 03:21 PM IST

FP Staff

0
मोसुल से ध्यान हटाने को जोड़ा गया हमारा नाम: FB स्कैंडल पर राहुल

फेसबुक डेटा लीक मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर पलटलवार किया है. राहुल का कहना है कि मोदी सरकार इराक के मोसुल में मारे गए 39 भारतीयों की मौत के मामले पर से लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है. राहुल ने ट्वीट कर कहा, फेसबुक डेटा चोरी मामले में कांग्रेस का नाम जोड़ दिया गया, ताकि मीडिया इराक के मोसुल हादसे को भूल जाए.

इससे पहले फेसबुक स्कैंडल मामले में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस पर निशाना साधा था. उन्होंने सवाल पूछा कि क्या कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए डेटा चोरी और डेटा के हेरफेर पर निर्भर है. उन्होंने पूछा कि राहुल गांधी की सोशल मीडिया प्रोफाइल में कैंब्रिज एनालिटिका की क्या भूमिका है. प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने 2019 के चुनाव प्रचार के लिए ब्रिटिश एजेंसी कैम्ब्रिज एनालिटिका को जिम्मेदारी सौंपी है, जिस पर कई गंभीर आरोप लगे हैं. दरअसल कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में भी दावा किया गया था कि कांग्रेस कैम्ब्रिज एनालिटिका से सवाएं ले रही है.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी के फेकन्यूज फैक्टरी से आज एक और झूठी खबर आ गई है. फर्जी बयान, फर्जी प्रेस कॉन्फ्रेंस और फर्जी एजेंडा बीजेपी और इनके ‘लॉ लेस’ मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद के लिए हर दिन की बात हो गई है.

बीजेपी पर पलटवार करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि बीजेपी, जेडीयू इस कंपनी की सर्विस लेती रही हैं. यह कंपनी ओबीआई की पार्टनर है जो बीजेपी की सहयोगी पार्टी से जुड़े नेता के बेटे की है. उन्होंने कहा, 'भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस या कांग्रेस अध्यक्ष ने कभी भी कैम्ब्रिज एनालिटिका की सेवाएं नहीं ली. यह कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का सफेद झूठ है और कांग्रेस के खिलाफ फर्जी एजेंडा है.'

आपको बता दें कि पॉलिटिकल डेटा एनालिसिस कंपनी कैम्ब्रिज एनालिटिका पर 5 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डेटा चुराकर, उनका गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगा है. इन आरोपों से फेसबुक मुसीबत में घिर गई है. इस मामले में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए फेसबुक के फाउंडर और सीईओ मार्क जकरबर्ग ने भी अपनी गलती स्वीकार की है. इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि यूजर्स की निजता को बनाए रखने के लिए कुछ जरूरी कदम उठाए जाएंगे. हम पहले से भी ऐसा किए हैं.

फेसबुक पर ही सार्वजनिक तौर पर अपनी राय रखते हुए जकरबर्ग ने कहा कि आपके डेटा की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी हमारी है. अगर हम ऐसा नहीं कर पाते हैं तो आपके लिए काम करने का हक नहीं है. इसके साथ ही जकरबर्ग ने कहा कि मैं यह समझने की कोशिश कर रहा हूं कि आखिर ये हुआ कैसे. इसके साथ ही हम ये सुनिश्चित कर रहे हैं कि ऐसा दोबारा न हो.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi