S M L

Exit Poll में कांग्रेस को मामूली बढ़त: मतगणना से पहले इन आंकड़ों ने उलझे गणित को और उलझा दिया है

Exit Poll Results 2018: पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए मतदान खत्म होने के साथ ही अब सबकी नजरें एक्जिट पोल पर टिकी थीं.

Updated On: Dec 07, 2018 09:06 PM IST

Amitesh Amitesh

0
Exit Poll में कांग्रेस को मामूली बढ़त: मतगणना से पहले इन आंकड़ों ने उलझे गणित को और उलझा दिया है

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए मतदान खत्म होने के साथ ही अब सबकी नजरें एक्जिट पोल पर टिकी थीं. 7 दिसंबर को राजस्थान और तेलंगाना में मतदान एक ही चरण में पूरा करा लिया गया, जबकि मध्यप्रदेश, मिजोरम और छत्तीसगढ़ मे पहले ही मतदान हो चुका था. सभी पांच राज्यों में मतदान की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अलग-अलग टीवी-चैनल और सर्वे एजेंसी की तरफ से जो एक्जिट पोल आए, उसने पूरी तस्वीर को और उलझा कर रख दिया.

चुनाव से पहले भी केवल राजस्थान को लेकर इस तरह कयास लगाए जा रहे थे कि वहां सत्ता विरोधी लहर चल रही है. एक्जिट पोल में भी लगभग वही तस्वीर दिखी. लेकिन, बाकी राज्यों में अलग-अलग चैनल के एक्जिट पोल ने अलग-अलग तस्वीर पेश कर पूरी तस्वीर को फिर कयासों और अटकलबाजियों के सहारे छोड़ दिया.

ये भी पढ़ें: Exit Poll Result 2018: मध्य प्रदेश में कांग्रेस का खत्म होगा 15 सालों का वनवास, बीजेपी को जनता ने नकारा!

बात पहले मध्यप्रदेश की करें तो यहां टाइम्स नाऊ-सीएनएक्स का एक्जिट पोल कुल 230 सीटों में से बीजेपी को 126, कांग्रेस को 89 और अन्य को 15 सीटें दे रहा है. टाइम्स नाऊ से एक्जिट पोल के मुताबिक मध्प्रदेश में एक बार फिर बीजेपी की सरकार बन रही है. जबकि इंडिया टूडे-एक्सिस का एक्जिट पोल मध्यप्रदेश में बीजेपी को 102-120 और कांग्रेस को 104-122 सीटें दे रहा है. इंडिया टूडे के मुताबिक, मध्यप्रदेश में बीजेपी-कांग्रेस में कांटे की टक्कर दिख रही है.

न्यूज एक्स-नेता के एक्जिट पोल के मुताबिक, बीजेपी को मध्यप्रदेश में 106, कांग्रेस को 112 और अन्य पार्टियों को 12 सीटें मिलने की संभावना है. जबकि रिपब्लिक-सी वोटर ने भी अपने एक्जिट पोल में बीजेपी को मध्यप्रदेश में 106 सीटें दी हैं. एक्जिट पोल के मुताबिक, कांग्रेस को 110-126 और अन्य को 6 से 12 सीटें मिल सकती हैं.

Chouhan, chief minister of Madhya Pradesh, greets his BJP supporters during his swearing-in ceremony in the central Indian city of Bhopal

एबीपी न्यूज के एक्जिट पोल के मुताबिक, मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बन रही है. एबीपी न्यूज ने अपने एक्जिट पोल में कांग्रेस को 126, बीजेपी को 94 जबकि अन्य को 10 सीटें दिया है. कुछ इसी तरह का एक्जिट पोल टूडे चाणक्य का है जिसमें कांग्रेस को मध्यप्रदेश में 125 सीटों के साथ सरकार बनाते दिखाया गया है जबकि, बीजेपी को 103 सीटें दी गई हैं.

इन सभी एक्जिट पोल पर गौर करें तो केवल टाइम्स नाऊ-सीएनएक्स के एक्जिट पोल में ही बीजेपी को फिर से स्पष्ट बहुमत मिल रहा है. सभी पोल को मिलाकर देखें तो बीजेपी की तुलना में कांग्रेस का पलड़ा मध्यप्रदेश में भारी दिख रहा है.

दरअसल, पूरे चुनाव प्रचार के दौरान और चुनाव के बाद भी अब तक चर्चा इसी बात की चल रही थी कि मध्यप्रदेश में कांटे की टक्कर है. एकतरफ, जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की छवि के दम पर बीजेपी फिर से सत्ता में वापसी की तैयारी कर रही थी, वहीं कांग्रेस ने बदलाव की बात कर इस बार कांग्रेस को मौका देने की बात कर रही थी.

ये भी पढ़ें: Exit Poll Result 2018: राजस्थान में वसुंधरा 'राज' खत्म, कांग्रेस को पूर्ण बहुमत!

हालांकि मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को किनारे लगा दिया था. फिर भी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के चेहरे को कांग्रेस ने आगे बढ़ाया था. कांग्रेस ने साफ नहीं किया कि दोनों में से मुख्यमंत्री पद का दावेदार कौन होगा, फिर भी परिवर्तन के नाम पर बेहतर शासन और बदलाव की उम्मीद लगाए कांग्रेस को एक्जिट पोल के नतीजों ने और उलझा कर रख दिया है. फिर भी सभी एक्जिट पोल के नतीजों को मिलाकर देखें तो कांग्रेस का पलडा बीजेपी से भारी दिख रहा है.

बात अगर छत्तीसगढ़ की करें तो यहां भी पिछले पंद्रह सालों से बीजेपी की ही सरकार है और बीजेपी ने इस बार भी चुनाव में लगातार तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके रमन सिंह के चेहरे को ही आगे किया था. पार्टी को उम्मीद थी कि कांग्रेस से अलग हुए पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी और बीएसपी के बीच बने गठबंधन का फायदा उसे मिल सकता है. लेकिन, एक्जिट पोल के नतीजे यहां भी बीजेपी के लिए बहुत राहत देते नहीं दिख रहे हैं.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में टाइम्स नाउ के एक्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी को 46 तो कांग्रेस को 35 सीटों पर मिलती हुई दिखाई गई हैं. रिपब्लिक टीवी के मुताबिक छत्तीसगढ़ में बीजेपी 40-48 सीटें और कांग्रेस को 37-43 सीटें मिल सकती हैं. जबकि दूसरे एक्जिट पोल में कांग्रेस का पलड़ा भारी दिख रहा है. इंडिया टुडे-एक्सिस के छत्‍तीसगढ़ के एग्जिट पोल में बीजेपी को 21-31 सीटें और कांग्रेस को 55-65 सीटें मिलती हुईं दिखाई गई हैं.

न्यूज एक्स-नेटा के एक्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी को 43 जबकि, कांग्रेस को 40 सीटें मिलने का अनुमान हैं. वहीं एबीपी न्यूज ने बीजेपी को 52 और कांग्रेस को 35 सीटें दी हैं. इसके अलावा टूडे चाणक्य ने भी अपने एक्जिट पोल में छत्तीसगढ़ में इस बार परिवर्तन की भविष्यवाणी कर दी है.

चाणक्य के मुताबिक, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 50, जबकि बीजेपी को 40 सीटें मिल सकती हैं. जबकि अन्य के खाते में 4 सीटें जाती दिख रही हैं. यानी छत्तीसगढ़ में भी देखा जाए तो इस बार मुकाबला कांटे का है, लेकिन, सभी पोल को मिलाकर देखा जाए तो पलड़ा कांग्रेस का भारी दिख रहा है.

sachin pilot ashok gehlot

हिंदी भाषी राज्यों में राजस्थान पर सबकी नजरें टिकी हुई थीं. चुनाव से पहले से ही राजस्थान में कांग्रेस की सरकार आने को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं. एक्जिट पोल भी लगभग उसी तरह की भविष्यवाणी कर रहे हैं. इंडिया टुडे के एक्जिट पोल के मुताबिक, राजस्थान में बीजेपी 57-72 सीटें और कांग्रेस 119-141 सीटें जीत सकती हैं.

ये भी पढ़ें: Exit Poll Result 2018: तेलंगाना में KCR का जादू बरकरार, सत्ता में बनी रहेगी TRS!

न्यूज-एक्स के मुताबिक राजस्थान में बीजेपी को 80 सीटें जबकि कांग्रेस को 112 सीटें मिल सकती हैं. टाइम्स नाऊ-सीएनएक्स ने भी राजस्थान में बीजेपी को 85 तो कांग्रेस को 105 सीटें जीतने की भविष्यवाणी की है. इसके अलावा और भी सभी एक्जिट पोल के नतीजे भले ही आंकड़े अलग-अलग दिखा रहे हैं, लेकिन, वे भी कांग्रेस की सरकार बनने का दावा कर रहे हैं.

दरअसल, राजस्थान में पांच सांलों से बीजेपी सत्ता में है.लेकिन,लोगों में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ गुस्सा दिख रहा था. हालाकि बीजेपी की तरफ से चुनाव में डैमेज कंट्रोल करने के लिए पूरी कोशिश की गई थी. लेकिन, एक्जिट पोल के नतीजे देखकर लग रहा है कि बीजेपी उस हद तक डैमेज कंट्रोल नहीं कर पाई जिसकी उम्मीद कर रही थी.

वैसे तो तेलंगाना और मिजोरम के भी चुनाव नतीजों पर सबकी नजरें होगी जब 11 दिसंबर को पांचों राज्यों में एक साथ मतगणना होगी, लेकिन, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनाव परिणाम का असर बड़ा होगा, क्योंकि बीजेपी इन तीनों ही राज्यों में सत्ता में है और उसका सीधा मुकाबला यहां कांग्रेस से है.

अगर बीजेपी के हाथों से इन राज्यों में सत्ता छीनेगी तो केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद यह पहला मौका होगा, जब बीजेपी सीधी लडाई में कांग्रेस से हारेगी, लिहाजा, इसका असर बड़ा होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi