S M L

यूपी-बिहार में 26 अप्रैल को विधान परिषद चुनाव, नीतीश-अखिलेश का खत्म हो रहा है कार्यकाल

उत्तर प्रदेश की 13 और बिहार की 11 विधान परिषद सीटों के लिए 26 अप्रैल को चुनाव कराया जाएगा

Updated On: Apr 03, 2018 10:35 AM IST

FP Staff

0
यूपी-बिहार में 26 अप्रैल को विधान परिषद चुनाव, नीतीश-अखिलेश का खत्म हो रहा है कार्यकाल

उत्तर प्रदेश और बिहार में विधान परिषद की 24 सीटों के लिए आगामी 26 अप्रैल को चुनाव होगा. चुनाव आयोग के अनुसार, यूपी की 13 और बिहार की 11 सीटों के लिए विधान परिषद के द्विवार्षिक चुनाव इस दिन कराए जाएंगे.

9 अप्रैल को विधान परिषद चुनाव की अधिसूचना जारी की जाएगी. नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 16 अप्रैल है. वहीं 17 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी. नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख 19 अप्रैल होगी. 26 अप्रैल को मतदान होगा और इसी दिन शाम 5 बजे मतगणना होगी. आयोग ने 2 मई तक चुनाव प्रक्रिया पूरी करने का लक्ष्य तय किया है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सहित 13 विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल 5 मई को जबकि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी सहित 11 सदस्यों का कार्यालय 6 मई को खत्म हो रहा है.

यूपी में 13 विधान परिषद सीटों के लिए चुनाव

यूपी में विधान परिषद की 13 सीटों के लिए चुनाव की घोषणा होते ही राजनीतिक दलों में सुगबुगाहट बढ़ गई है. पिछले महीने ही राज्यसभा के चुनाव में बीजेपी और विपक्ष के बीच रोमांचक मुकाबला हुआ. जिसमें बीजेपी ने तयशुदा से अधिक 9 सीटें जीतकर विपक्ष को चित कर दिया था. लेकिन, विधान परिषद चुनाव में बीजेपी गठबंधन के पास 11 और विपक्ष के पास 2 सीटों पर पर्याप्त विधायक होने से फिलहाल जोड़तोड़ और क्रॉस वोटिंग की स्थिति नहीं दिख रही है.

gorakhpur yogi phoolpur gorakhpur bhabhua by poll election

समाजवादी पार्टी (एसपी) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के बीच 1-1 सीट के बंटवारे की संभावना है. एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रदेश अध्यक्ष नरेश चंद्र उत्तम के विधान परिषद उम्मीदवार होने के कयास थे लेकिन, गठबंधन धर्म निभाने के लिए बीएसपी के भीमराव अंबेडकर के लिए एसपी अपनी एक सीट की दावेदारी छोड़ेगी. इस चुनाव के बाद विधान परिषद में एसपी सदस्यों की संख्या घट जाएगी और बीजेपी का इसमें दबदबा बढ़ेगा.

बिहार में 11 विधान परिषद सीटों के लिए चुनाव

बिहार में इस बात की संभावना है कि राज्यसभा की तरह विधान परिषद चुनाव में भी मतदान नहीं होगा. यहां विधान परिषद की एक सीट के लिए 22 वोटों की जरूरत होगी. विधानसभा में दलों के संख्या बल के आधार पर जेडीयू-बीजेपी गठबंधन को 6 और आरजेडी-कांग्रेस गठबंधन को 5 सीटें मिलनी तय है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, राबड़ी देवी, संजय सिंह, चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी, राज किशोर कुशवाहा, लाल बाबू प्रसाद, सत्येंद्र नारायण सिंह, उपेंद्र प्रसाद का कार्यकाल खत्म होने और नरेंद्र सिंह की 6 जनवरी, 2016 को सदस्यता खत्म होने से खाली हुई विधान परिषद सीटें के लिए यह चुनाव हो रहा है.

बिहार विधानसभा में कांग्रेस के 27 सदस्य हैं. ऐसे में उसके एक उम्मीदवार का जीतना तय है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi