S M L

यूपी चुनाव: 'केवल सर्वे से टिकट बांटना नहीं चलेगा'

सर्वे के आधार पर विधानसभा चुनावों में टिकट थमाना ठीक नहीं.

Updated On: Nov 22, 2016 12:44 PM IST

Amitesh Amitesh

0
यूपी चुनाव: 'केवल सर्वे से टिकट बांटना नहीं चलेगा'

बीजेपी के राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने बीजेपी के अंदरूनी सर्वे पर सवाल खड़ा किया है. कटियार ने कहा है कि केवल पार्टी की तरफ से कराए सर्वे के आधार पर विधानसभा चुनावों में टिकट थमाना ठीक नहीं.

फर्स्टपोस्ट हिंदी से एक्सक्लूसिव बातचीत में कटियार ने कहा ‘सर्वे का भी सहारा लिया जा रहा है और छोटे कार्यकर्ताओं से भी बात की जा रही है. दोनों काम हो रहा है. लेकिन, केवल सर्वे पर भरोसा करना ठीक नहीं है...’

कटियार का बयान इसलिए महत्तवपूर्ण हो जाता है क्योंकि बीजेपी की तरफ से इन दिनों पूरे उत्तर प्रदेश में सर्वे कराया जा रहा है और सर्वे के आधार पर टिकट देने की बात कही जा रही है.

बीजेपी के यूपी अध्यक्ष समेत राष्ट्रीय स्तर पर कई बड़े पदों पर रहे विनय कटियार के बयान से जमीनी कार्यकर्ताओं का दर्द छलक रहा है. कटियार के बयान से साफ है सर्वे के साथ-साथ जमीनी कार्यकर्ताओं की भी भावनाओं का ख्याल रखने की जरूरत है.

पार्टी के भीतर जमीनी नेताओं और कार्यकर्तों को कम महत्व देने की बात से कटियार इनकार करते हैं. पार्टी के भीतर जहां यूपी में नए नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी दी जा रही है, वहीं कटियार जैसे पुराने दिग्गज हाशिए पर नजर आ रहे हैं.

लेकिन, कटियार इन सबसे इनकार करते हुए कहते हैं. ‘ऐसा कुछ नहीं हैं. जहां हमारी आवश्यकता होगी वहां जाएंगे, हर जगह जाएंगे. मैं आगे चुनावों में अपनी अच्छी भूमिका देख रहा हूं. प्रचार करुंगा , कस के करुंगा.’

जरूरत पड़ी तो मंदिर आंदोलन भी चलाएंगे

Ayodhya

राम मंदिर आंदोलन के बड़े चेहरे रहे विनय कटियार ने एक बार फिर से मंदिर राग अलापना शुरू कर दिया है. राम मंदिर आंदोलन में कटियार फायर ब्रांड नेता रहे हैं.

फैजाबाद से पूर्व सांसद विनय कटियार ने सरकार की उस नीति पर ही सवाल खड़ा कर दिया जिसमें राम की नगरी में रामायण म्युजियम बनाने की बात कही जा रही है. कटियार ने तल्ख लहजे में कहा है. हमें म्युजियम नहीं मंदिर चाहिए.

बीजेपी पर आरोप लगता रहता है राज के लिए राम की याद आती है, फिर पार्टी राज संभालते उन्हें भूल जाती है.

बजरंगी कटियार कहते हैं.

‘याद कराने के लिए विनय कटियार हैं ना अभी. जब-जब भूलते हैं, राख पड़ती है तो सफाई करने के लिए विनय कटियार हैं ना. और भी हमारे जैसे लोग हैं. विश्व हिन्दू परिषद के लोग हैं. वो भी करते रहते हैं. ये सब काम चलते रहता है. राम के बिना तो कुछ हैं ही नहीं. अयोध्या को जितना चाहें लोग सजा दें, संवार दें, लेकिन, राम के मंदिर के बगैर सब बेकार है. श्रृंगार राम मंदिर है, वो बनना चाहिए.’

विनय कटियार ने साफ-साफ लब्जों में कहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए अगर आंदोलन की जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी चलाएंगे.

कटियार कहते हैं सरकार तक सारी बातें पहुंच रही है. सरकार कोई गूंगी-बहरी नहीं है. सब पहुंच रही है. जो भी बोला जा रहा है. एक-एक शब्द सरकार तक पहुंच रहा है.

विनय कटियार मंदिर मुद्दे पर काफी आक्रामक रूख अपना रहे हैं. कटियार के तेवर का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वो बिना नाम लिए कहते हैं. ‘मेरे बयान का मतलब बहुत होता है. सब जानते हैं , आप भी जानते हैं, समझाने की जरुरत नहीं है.’

यूपी में मोदी ही होंगे चेहरा

Narendra Modi

कुछ दिनों पहले बीजेपी और संघ परिवार की तरफ से यूपी में सर्वे कराने की बात कही गई थी. सर्वे किसी सर्वमान्य चेहरे के लिए. लेकिन, न ही संघ और न ही बीजेपी कोई ऐसा चेहरा ढूंढ पाई.

अब पार्टी को एक बार फिर भरोसा है तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर. बीजेपी ने साफ कर दिया है कि मोदी के नाम पर ही यूपी में वोट मांगे जाएंगे.

फर्स्टपोस्ट ने जब इस बाबत विनय कटियार से पूछा क्या यूपी में बीजेपी के पास कोई ऐसा नेता नहीं है जिसपर भरोसा कर चुनाव मैदान में उतरा जा सके. इसपर कटियार ने कहा

‘नहीं ऐसी कोई बात नहीं है. कोई चेहरा प्रोजेक्ट करने की जरुरत नहीं है. नरेन्द्र मोदी ही चेहरा हैं. अमित शाह राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं.उनके सबके बल पर हम  चुनाव जीतेंगे.’

कटियार कहते हैं चेहरे की कोई जरुरत नहीं है. इस वक्त केवल चुनाव जीतने की जरूरत है और नरेन्द्र मोदी के अच्छे कामों को लेकर हम चुनाव मैदान में जाने वाले हैं.

एलओसी के पार आतंकवादी के बेस कैंप पर सर्जिकल स्ट्राइक को बीजेपी चुनावों में भुनाने वाली है, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह भी हर मंच से इसका जिक्र करते हैं.

कटियार का कहना है. ‘नरेन्द्र मोदी के नाम पर जाएंगे. वो काम अच्छा कर रहे हैं. पाकिस्तान के अंदर घुसकर मार रहे हैं. ये काम हो रहा है, सर्जिकल स्ट्राइक चल रही है, तो क्या जरुरत है चेहरा प्रोजेक्ट करने की . मोदी के नाम पर आगे जाएंगे.’

जनसंख्या पर लगाम लगाना जरूरी

तीन तलाक के मसले पर इन दिनों देश में सियासी माहौल गर्म है. बीजेपी नेता विनय कटियार भी ट्रिपल तलाक के मसले पर कहते हैं महिलाओं को उनका अधिकार मिलना चाहिए.

किसी महिला को तीन बार तलाक देकर नहीं छोड़ना चाहिए. शाहबानो के केस में ऐसा ही हुआ था. सुप्रीम कोर्ट में जीत कर आई थी.

लेकिन, बाद में कानून में संशोधन करना गलत था. शाहबानो को जिस प्रकार न्याय मिला , वैसे ही हर महिला को न्याय मिलना चाहिए. तीन बार ट्रिपल तलाक कहने से काम नहीं चलेगा. महिलाओं को पूर्ण अधिकार और सुरक्षा की गारंटी मिलनी चाहिए.

कटियार ने जनसंख्या नियंत्रण पर बड़ा बयान दिया है. कटियार ने कहा है कि एक व्यक्ति को चार-चार शादी करने का अधिकार समाज के लिए ठीक नहीं है. विनय कटियार ने कहा है जनसंख्या पर भी प्रतिबंध लगाने की जरुरत है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi