S M L

कांग्रेस ने अगर मेरी बात मानी होती तो मोदी आज पीएम नहीं होते: दिग्विजय सिंह

दिग्विजय ने कहा, लोगों को मुझसे नाराजगी है क्योंकि मैं बीजेपी और संघ को कोसता हूं

Updated On: Mar 17, 2017 05:14 PM IST

FP Staff

0
कांग्रेस ने अगर मेरी बात मानी होती तो मोदी आज पीएम नहीं होते: दिग्विजय सिंह

गोवा में विधानसभा चुनाव के बाद रिजल्ट में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सामने आई. इसके बावजूद गोवा में बीजेपी की सरकार बन गई.

गोवा कांग्रेस के नेता विश्वजीत राणे ने इसके लिए चुनाव प्रभारी दिग्विजय सिंह को जिम्मेदार ठहराया है.

इसके बाद दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को इस बारे में 20 से ज्यादा ट्वीट किए और बीजेपी और राणे पर जमकर निशाना साधा. इसके बाद न्यूज18इंडिया के चौपाल कार्यक्रम में भी पूरे घटनाक्रम का खुलासा किया.

दिग्विजय सिंह ने कहा, गडकरी जी झोला लेकर गोवा गए थे. जब सोने के समय यानी रात में आप सोते हैं तो ईमानदार हैं. अच्छे लोग रात में सोते हैं जबकि चोरी करने वाले रात को जागते हैं. सुबह 4 से 7 बजे तक विजय मनोहर और गडकरी कहां थे. ये लोग होटल में सौदा पका रहे थे. ब्रज भूषण सिंह उनके घर आए और विजय को लेकर गडकरी जी से मिलाने ले गए और फिर झोले ने काम किया.

राज्यपाल को पहले कांग्रेस को बुलाना चाहिए था

गोवा के बारे में विस्तार से बात करते हुए दिग्विजय ने कहा, कांग्रेस को मैंडेट मिला था गोवा में तो राज्यपाल को हमें बुलाना चाहिए था पर हमें नहीं बुलाया गया ना ही समय दिया गया.

राज्यपाल पर निशाना साधते हुए उन्होंने मुंबई मिरर को दिए मृदुला सिन्हा के इंटरव्यू का हवाला दिया. इसमें उन्होंने कहा, 'मैं साइकोलॉजिस्ट हूं. उन्होंने विधायकों के चेहरे देखे और फिर तय किया और अरुण जेटली जी से बात की. ना की अटॉर्नी जनरल से ना विधि मंत्री से ना प्रेसिडेंट से.'

गोवा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद सरकार बनाने में नाकाम होने पर उन्होंने गुस्सा दिखाते हुए कहा, हमारी पार्टी के ही कुछ लोगों ने छुरा घोंपा. उन्होंने मीडिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि सबकी नजर में सबसे बड़ा खलनायक दिग्गी है. मुझसे लोगों की नाराजगी है क्योंकि मैं बीजेपी और संघ को कोसता हूं.

पूरी दुनिया में राष्ट्रवाद की हवा है 

उन्होंने यूपी चुनाव में बीजेपी की जीत का सबसे बड़ा कारण बताते हुए कहा, बीजेपी बिना हिन्दू मुस्लमान किये चुनाव लड़ ही नहीं सकती. ये एक हवा है पूरे विश्व में राष्ट्रवाद की.

कांग्रेस आज भी इस देश में जगह-जगह है. हम लोग काडर आधारित पार्टी से लड़ रहे हैं. ये लोग शिशु मंदिर से ही बच्चों के मन में मुसलमानों के प्रति और ईसाईयों के प्रति द्वेष भर देते हैं.

दिग्विजय ने कहा, मेरी बात अगर मेरी ही पार्टी मान लेती तो मोदी प्रधानमंत्री नहीं होते. राहुल के फ्लॉप होने के जवाब में उन्‍होंने कहा, राहुल जी चल रहे हैं. उदाहरण पंजाब है लोग भले ही इसके पीछे अमरिंदर सिंह का नाम लें. उन्होंने कहा कि ये मीडिया की आदत है, जीते तो और कोई हारे तो राहुल गांधी पर दोष मढ़ देते हैं. आज भी कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है संसद में. बाकी सब क्षेत्रीय पार्टी हैं.

साभार: न्यूज़18 हिंदी 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi