S M L

तेजस्वी ने वीडियो जारी कर कहा- मीडिया परेशान करे तो बॉडीगार्ड्स चुप क्यों रहें?

उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के सुरक्षाकर्मियों ने सचिवालय में पत्रकारों के साथ मारपीट की थी

Updated On: Jul 13, 2017 01:03 PM IST

FP Staff

0
तेजस्वी ने वीडियो जारी कर कहा- मीडिया परेशान करे तो बॉडीगार्ड्स चुप क्यों रहें?

बिहार सचिवालय में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के बॉडीगार्ड्स द्वारा पत्रकारों को पीटे जाने के मामले में तेजस्वी ने मीडियावालों की ही गलती बताई है.

तेजस्वी ने वीडियो जारी कर कहा है कि 'मीडियावालों की मार खा कर' उनके सुरक्षाकर्मी चुप क्यों रहें?

वीडियो के मुताबिक मीडियावाले ही सुरक्षाकर्मियों को परेशान कर रहे थे जिसके बाद यह घटना हुई. वीडियो में दिखाया गया है कि एक मीडियाकर्मी के साथ मारपीट हुई उसका कैमरा एक सुरक्षाकर्मी को कान के पास लगा जिसके बाद उसके साथ हाथापाई की गई.

वीडियो में पुलिसवालों को गरीब और प्रभावहीन बताते हुए कहा गया है कि उनका भी मान-सम्मान है ऐसे में वो 'मार खा कर' चुप क्यों रहें?

पहले घटना पर जताया था खेद

इससे पहले तेजस्वी यादव ने फेसबुक पर पोस्ट कर घटना पर खेद जताया पर यह भी कहा कि उन्हें इस घटना का पता नहीं चला क्योंकि वह पत्रकारों से घिरे हुए थे.

उन्होंने कहा कि दस-दस माइक मेरी नाक पर लगने वाले थे और उनके सुरक्षाकर्मी उन्हें बचा कर अपनी ड्यूटी कर रहे थे. उन्होंने मामले की जांच करवाए जाने की भी बात कही.

क्या कहा तेजस्वी ने?

उन्होंने लिखा, 'पत्रकारों पर हमले को लेकर भ्रामक खबरें आ रही हैं. उनके ही कहने पर मैं 5-7 मिनटों तक इंतजार किया क्योंकि वो आपस में गुत्थमगुत्थी कर रहे थे. मैं समझता हूं कि उनका, खास तौर से कैमरामैन का काम कितना मुश्किल होता है. वो आपस में स्पर्धा कर रहे थे. कुछ मीडियाकर्मी पीछे से माइक लगा रहे थे जो मेरे कान और सिर पर लग रहा था. कुछ मौकों पर तो 10-10 माइक मेरी नाक से टकराने वाले थे. मेरे सुरक्षाकर्मी अपनी ड्यूटी के मुताबिक मुझे बचा रहे थे.

मुझे पता नहीं चला कि दूसरी ओर क्या हो रहा था क्योंकि मैं मीडिया से घिरा हुआ था. एक कैमरामैन ने तो स्वस्थ्य मंत्री (तेज प्रताप यादव) के सिर पर जोर से कैमरा मार दिया जब वह कार में चढ़ रहे थे. इसकी कोई रिपोर्टिंग नहीं की गई हालांकि इसकी जरुरत भी नहीं थी क्योंकि हड़बड़ी में ऐसा हो जाता है.

सुरक्षाकर्मियों को भी मामूली चोटें आईं. जब सैकड़ों मीडियाकर्मी आपको घेर लेते हैं और इधर-उधर उछलते हैं तो हमारे और सुरक्षाकर्मियों के लिए भी मुश्किल हो जाती है. कुछ खबरें आईं कि यह सब मेरे कहने पर हुआ जो कि निराधार हैं. हम मीडिया के साथ दोस्ताना व्यवहार रखते हैं और उनके जवाब देते हैं. मैं ऐसे किसी हमले के लिए खेद जताता हूं. मैं खुद मामले की जांच करवाऊंगा. धन्यवाद.'

दरअसल पटना में सीएम नीतीश कुमार के साथ कैबिनेट की बैठक खत्म होने के बाद बाहर निकले तेजस्वी यादव के सामने उनके सुरक्षाकर्मियों ने पत्रकारों के साथ हाथापाई की थी.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले भी लालू यादव के साथ मौजूद नेताओं द्वारा एक मीडिया चैनल के पत्रकार के साथ धक्का-मुक्की की खबर आई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi