S M L

बीजेपी से निपटने के लिए 'अच्छे लोगों' से हाथ मिलाना जरूरी: केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा कि इन ताकतों से लड़ने के लिए अच्छे लोगों को एकजुट होना होगा

Updated On: Apr 19, 2017 04:50 PM IST

Bhasha

0
बीजेपी से निपटने के लिए 'अच्छे लोगों' से हाथ मिलाना जरूरी: केजरीवाल

आप नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी के विस्तार की चुनौती से निपटने के लिये समान विचारों वाले सभी अच्छे लोगों के एकजुट होने की जरूरत पर बल दिया है.

केजरीवाल ने बुधवार को केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से मुलाकात के बाद कहा कि देश में भय का वातावरण व्याप्त हो गया है. उद्योग और कारोबार क्षेत्र से लेकर मीडिया और जनसामान्य तक, हर कोई भयग्रस्त है.

अच्छे लोगों को होना होगा एकजुट

देश में पनपे इस माहौल को समूची व्यवस्था के लिये दोषपूर्ण बताते हुए केजरीवाल ने कहा कि इन परिस्थितियों से निपटने के लिये ‘अच्छे लोगों’ को एकजुट होना होगा.

केजरीवाल ने केरल हाउस में विजयन से नाश्ते पर मुलाकात के दौरान देश में मौजूदा राजनीतिक और सामाजिक हालात पर चर्चा की. बैठक के बाद उन्होंने कहा कि देश की सत्ता गलत ताकतों के हाथों में है और धीरे-धीरे देश भर में इनका दायरा बढ़ता जा रहा है.

यह भी पढ़ें: आप का घोषणापत्र जारी, हाउस टैक्स खत्म करने का वादा

राज्य दर राज्य बीजेपी के विस्तार की ओर इशारा करते हुए केजरीवाल ने कहा कि इन ताकतों से लड़ने के लिये अच्छे लोगों को एकजुट होना होगा.

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के विरोध में उठी हर आवाज को दबा दिया जाता है. यह प्रवृत्ति गलत है.

केजरीवाल का यह बयान बीएसपी प्रमुख मायावती और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा बीजेपी की चुनौती से निपटने के लिये समान विचारधारा वाले दलों के गठजोड़ की जरूरत बताने के एक दिन बाद आया है.

कांग्रेस की अगुवाई में बीजेपी से पार पाना मुश्किल  

इस दौरान विजयन ने बीजेपी से निपटने में कांग्रेस की अगुवाई वाले गठजोड़ को नाकाफी बताते हुये कहा कि इस मकसद को पूरा करने में कांग्रेस पर भरोसा नहीं किया जा सकता है.

उन्होंने बीजेपी में शामिल हुए दिल्ली कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली का नाम लिए बिना उनका उदाहरण देते हुए कहा कि हम सभी ने मंगलवार को देखा कि किस तरह कांग्रेस के एक बड़े नेता ने बीजेपी का दामन थाम लिया.

उन्होंने कहा कि आरएसएस द्वारा समाज में फैलाए जा रहे भय से देश में उत्पन्न गंभीर हालात पर केजरीवाल के साथ चर्चा की. इसमें हमारे बीच इस बात पर आम राय बनी है कि हमें इन ताकतों से प्रभावित हुए बिना देश के धर्मनिरपेक्ष तानेबाने को बरकरार रखने के लिये एकजुट होना पड़ेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi