S M L

'रामराज रथ यात्रा बीजेपी की सांप्रदायिक ध्रुवीकरण नीति का हिस्सा'

सीपीएम ने रामराज रथयात्रा को बीजेपी की सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की नीति का हिस्सा बताते हुए इससे देश में अफरातफरी और कौमी तनाव पैदा होने की आशंका जताई है

Updated On: Feb 14, 2018 09:38 PM IST

Bhasha

0
'रामराज रथ यात्रा बीजेपी की सांप्रदायिक ध्रुवीकरण नीति का हिस्सा'

सीपीएम ने उत्तर प्रदेश में अयोध्या से बुधवार रवाना की गई रामराज रथयात्रा को बीजेपी की सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की नीति का हिस्सा बताते हुए इससे देश में अफरातफरी और कौमी तनाव पैदा होने की आशंका जताई है. सीपीएम पोलित ब्यूरो ने आज विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) द्वारा शुरू की गई.

रामराज रथ यात्रा पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि इस यात्रा से देश में सांप्रदायिक दंगे भड़कने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है. पोलित ब्यूरो की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह यात्रा बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के पक्ष में हिंदू वोटबैंक को मजबूत करने के लिये आयोजित की गई है. यात्रा के गंभीर परिणामों की ओर इंगित करते हुए पार्टी ने इससे देश में सांप्रदायिक तनाव पैदा होने और दंगे भड़कने की आशंका जताई है.

पार्टी ने कहा कि इस यात्रा को आरएसएस से जुड़े संगठन वीएचपी के महासचिव ने फैजाबाद से बीजेपी सांसद और अयोध्या के मेयर की मौजूदगी में अयोध्या से मंगलवार को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया था.

इस यात्रा का घोषित एजेंडा लोगों को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की शपथ दिलाना है. सीपीएम ने अयोध्या मामले की सुनवाई उच्चतम न्यायालय में लंबित होने के बावजूद इस यात्रा को शुरू करने पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि इसका मार्ग बीजेपी शासित राज्यों मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और आसन्न विधानसभा चुनाव वाले राज्य कर्नाटक तथा केरल से होते हुए तमिलनाडु में रामेश्वरम तक जाएगा. इससे साफ है कि यह यात्रा बीजेपी के पक्ष में हिंदुत्ववादी वोटबैंक का ध्रुवीकरण करने के लिये आयोजित की गई है.

सीपीएम पोलित ब्यूरो ने इस यात्रा की संवेदनशीलता का हवाला देते हुए केंद्र और राज्य सरकारों से सांप्रदायिक सौहार्द कायम रखने के पुख्ता इंतजाम करने की मांग की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi