S M L

BJP विरोधी वोट लामबंद करने के लिए क्षेत्रीय पार्टियों को फुसलाने में लगी कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता ने एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव के उस मशविरे से इत्तेफाक जताया जिसमें उन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ संयुक्त प्रत्याशी उतारने की बात कही थी

Updated On: Jun 02, 2018 02:23 PM IST

FP Staff

0
BJP विरोधी वोट लामबंद करने के लिए क्षेत्रीय पार्टियों को फुसलाने में लगी कांग्रेस

कांग्रेस 2019 आम चुनावों से पहले बीजेपी को घेरने में लग गई है. उसकी योजना देश की क्षेत्रीय पार्टियों से गठजोड़ कर किसी भी सूरत में बीजेपी विरोधी वोटों को बंटने देने से रोकना है. कांग्रेस ने इसके लिए नई रणनीति बनाने की तैयारी शुरू कर दी है.

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, अलग-अलग राज्यों में गठबंधन या सीट शेयरिंग की कोई खास योजना नहीं है लेकिन बीजेपी विरोधी वोटों को लामबंद करने की पूरी कोशिश है. सिंघवी हालांकि इस सवाल का जवाब नहीं दे पाए कि वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ एकजुट विपक्ष क्या कोई उम्मीदवार उतारेगा? कांग्रेस प्रवक्ता ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के उस मशविरे से इत्तेफाक जताया जिसमें उन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ संयुक्त प्रत्याशी उतारने की बात कही थी.

सिंघवी ने रिपोर्टरों से कहा, किसी भी प्रदेश में जहां लड़ाई दोतरफा हो या तीन तरफा, बीजेपी वोटों को एकजुट करने पर फोकस रहेगा. इसी के चलते बीजेपी में खौफ समा गया है. क्षेत्रीय पार्टियों के साथ गठजोड़ की रणनीति पर सिंघवी ने कहा, कोई एक फार्मूला निश्चित नहीं है लेकिन पूरे देश में हर हाल में बीजेपी विरोधी वोटों को बंटने नहीं देना है. आप चाहें तो इसे औपचारिक गठबंधन या सीट शेयरिंग कह सकते हैं.

सिंघवी ने आगे कहा, उत्तर प्रदेश से कर्नाटक तक यही देखने को मिला कि वोटों के बंटवारे का बीजेपी पूरा फायदा उठाती है जिसे कांग्रेस रोकना चाह रही है. 'ये कैसे होगा और हम क्या करेंगे, यह अलग-अलग प्रदेशों पर निर्भर करेगा. हो सकता है प्रदेशों में अलग-अलग नतीजे मिलें लेकिन बीजेपी विरोधी वोट बंटने से बच जाएंगे.'

सिंघवी का यह बयान 4 लोकसभा और 10 विधानसभा उपचुनावों के नतीजे आने के बाद आया है जिसमें बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा. कई राज्यों में कांग्रेस ने क्षेत्रीय पार्टियों के साथ या तो गठजोड़ किया या दूसरी पार्टी के उम्मीदवारों का समर्थन किया. उपचुनावों में बीजेपी मात्र पालघर लोकसभा सीट जीत पाई जबकि 10 विधानभा सीट में एक थराली में उसे जीत मिली. नगालैंड में बीजेपी समर्थित एनडीपी ने जीत हासिल की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi