S M L

चुनावी हलफनाफे में अमित शाह ने छुपाई देनदारी: कांग्रेस

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा कि पार्टी चुनाव आयोग से संपर्क कर यह सूचित करेगी कि बीजेपी अध्यक्ष का चुनावी हलफनामा गलत है.

Updated On: Aug 11, 2018 07:36 PM IST

Bhasha

0
चुनावी हलफनाफे में अमित शाह ने छुपाई देनदारी: कांग्रेस

कांग्रेस ने शनिवार को आरोप लगाया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने राज्यसभा चुनाव के अपने हलफनामे में 'देनदारी' की बात छिपाई जबकि उनके बेटे जय शाह ने अपने पिता के स्वामित्व वाले दो भूखंडों के नाम पर बैंकों से ऋण सुविधा ली.

बीजेपी ने इस आरोप को 'बकवास और फर्जी' करार दिया. सत्तारूढ़ पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि अमित शाह अपने बेटे से जुड़ी स्वतंत्र इकाई की देनदारी को अपनी देनदारी के तौर पर नहीं दिखा सकते.

शाह के खिलाफ आरोप लगाते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा कि पार्टी चुनाव आयोग से संपर्क कर यह सूचित करेगी कि बीजेपी अध्यक्ष का चुनावी हलफनामा गलत है.

बीजेपी अध्यक्ष अगस्त 2017 में गुजरात से राज्यसभा के लिये निर्वाचित हुए थे. पात्रा ने कहा, 'शाह के खिलाफ आरोप पूरी तरह बकवास और फर्जी हैं. अगर अमित शाह अपनी संपत्ति गिरवी रखते हैं तो भी इसका मतलब यह नहीं है कि देनदारी उनकी है.

रमेश ने यह भी आरोप लगाया कि जय शाह के स्वामित्व वाली इकाई 'कुसुम फिनसर्व' की शुद्ध संपत्ति छह करोड़ रुपए थी, लेकिन उसने अलग-अलग निजी एवं सहकारी बैंकों से 95 करोड़ रुपए की ऋण सुविधा हासिल की.

उन्होंने दावा किया कि 'कुसुम फिनसर्व' में जय शाह की 60 फीसदी और उनकी पत्नी की करीब 30 फीसदी हिस्सेदारी है. कांग्रेस नेता ने दावा किया कि जय शाह से जुड़ी इस कंपनी को गुजरात औद्योगिक विकास निगम (जीआईडीसी) ने पिछले साल मई में भूखंड दिया और एक महीने के भीतर कंपनी ने इसी भूखंड के नाम पर 17 करोड़ रुपए का कर्ज लिया.

उन्होंने यह भी कहा कि नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रम इंडियन रिन्यूवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी लिमिटेड (आईआरईडीए) ने 'कुसुम फिनसर्व' को मध्य प्रदेश के रतलाम में पवन ऊर्जा इकाई स्थापित करने के लिए 10.5 करोड़ रुपए दिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi