S M L

राहुल-रविशंकर में ट्विटर वॉर, दिया एक दूसरे आरोपों का जवाब

कांग्रेस और बीजेपी एक- दूसरे पर विवादास्पद डाटा कंपनी की सेवाएं लेने के लिए आरोप लगा रही हैं

Updated On: Mar 24, 2018 11:01 PM IST

FP Staff

0
राहुल-रविशंकर में ट्विटर वॉर, दिया एक दूसरे आरोपों का जवाब

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अदालतों में काफी संख्या में मामले लंबित रहने और न्यायाधीशों की कमी को लेकर शनिवार को कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद पर प्रहार किया. राहुल गांधी ने प्रसाद पर फर्जी खबरें फैलाने का आरोप लगाया.

इससे पहले प्रसाद ने कांग्रेस पर आरोप लगाया था कि उसने पिछले चुनावों में विवादास्पद डाटा कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका की सेवाएं ली थीं जिस पर राहुल ने शनिवार को पलटवार किया. कैंब्रिज एनालिटिका पर फेसबुक से डाटा चुराने के आरोप हैं.

कांग्रेस ने आरोपों से इंकार किया और बीजेपी पर आरोप लगाया कि उसने कंपनी की सेवाएं लीं.

राहुल ने ट्वीट किया, ‘मामले लंबित रहने से न्याय व्यवस्था चरमरा रही है. सुप्रीम कोर्ट में 55 हजार से ज्यादा, हाईकोर्ट में 37 लाख से ज्यादा, निचली अदालतों में 2.6 करोड़ से ज्यादा मामले लंबित हैं. फिर भी हाईकोर्ट में 400 और निचली अदालतों में 6000 न्यायाधीशों की नियुक्ति नहीं हुई है, जबकि कानून मंत्री फर्जी खबरें फैलाने में व्यस्त हैं.’

रविशंकर प्रसाद ने दिया जवाब

इसके जवाब में रविशंकर प्रसाद ने भी एक के बाद एक ट्वीट किए. प्रसाद ने लिखा, 'मिस्टर राहुल गांधी, डाटा चोरी को लेकर कैम्ब्रिज एनालिटिका भेजे नोटिस ने आपको चिंता में डाल दिया है. गुस्से और फ्रस्ट्रेशन में आप कानून व्यवस्था को बीच में ला रहे हैं. यह दुखद है.'

प्रसाद ने राहुल के आरोपों का जवाब चार्ट्स की मदद से दिया. उन्होंने लिखा कि लंबित केस और जजों की कमी यूपी सरकार की देन है और बीजेपी इस स्थिति को सुधारने की दिशा में लगातार काम कर रही है.

प्रसाद ने लिखा, "यूपीए-1 के दौरान हाईकोर्ट जजों की सालाना नियुक्ति का औसत 86 था, यूपीए 2 के दौरान यह 79 था जबकि एनडीए सरकार के कार्यकाल में 109 नियुक्ति प्रतिवर्ष का औसत है."

क्या कहा था रविशंकर प्रसाद ने

कांग्रेस और बीजेपी एक- दूसरे पर विवादास्पद डाटा कंपनी की सेवाएं लेने के लिए आरोप लगा रही हैं. कानून मंत्री ने कुछ दिन पहले एक खबर का जिक्र करते हुए कांग्रेस पर सवाल उठाया था कि कांग्रेस का कैंब्रिज एनालिटिका से प्रेम क्यों है? कांग्रेस इसका उपयोग क्‍यों कर रही है? इस संगठन की राहुल की सोशल मीडिया प्रोफाइल में क्या भूमिका है?

क्‍या कांग्रेस अब चुनाव जीतने के लिए डेटा चोरी का इस्‍तेमाल करेगी? क्‍या सेक्स, स्लीज और फेक न्यूज के रास्ते को अपनायेगी जैसा कि कैंब्रिज एनालिटिका ने किया? उन्होंने कहा कि अभी राहुल गांधी की ट्विटर फ़ॉलोवर काफी बढ़े हैं. फेक फॉलोवर बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल किया गया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi