S M L

राहुल गांधी ने साधा रक्षा मंत्री पर निशाना, कहा- फिर पकड़ा गया राफेल मिनिस्टर का झूठ

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा

Updated On: Sep 20, 2018 11:48 AM IST

FP Staff

0
राहुल गांधी ने साधा रक्षा मंत्री पर निशाना, कहा- फिर पकड़ा गया राफेल मिनिस्टर का झूठ

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण हमला बोलते हुए कहा कि आरएम (राफेल मिनिस्टर) राफेल सौदे को लेकर बार-बार झूठ बोल रहीं हैं और हर बार उनका झूठ पकड़ा जा रहा है.

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में पूर्व एचएएल चीफ टीएस राजू के बयान का जिक्र करते हुए कहा कि राजू ने रक्षा मंत्री का झूठ सामने ला दिया कि एचएएल में राफेल बनाने की क्षमता नहीं है. रक्षा मंत्री अस्थिर हैं ऐसे में उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. आपको बता दें कि पूर्व एचएएल प्रमुख टीएस राजू ने कहा था कि सरकार राफेल लड़ाकू विमान भारत में ही बना सकती थी. जब एचएएल फोर्थ जनरेशन का फाइटेर जेट 25 टन का सुखोई-30 बना सकता है, तो राफेल भी बना सकता था.

राफेल विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर कांग्रेस लगातार हमले कर रही है. बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) राजीव महर्षि से मुलाकात की थी. पार्टी नेताओं ने कहा था कि कैग ने उनसे कहा कि वह संसद में रिपोर्ट पेश करने के लिए पूरे मामले की पहले ही जांच कर रहे हैं और उन्होंने आश्वासन दिया कि सभी तर्कों पर विचार किया जाएगा. कांग्रेस ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल को बताया कि कैग की रिपोर्ट जल्द ही संसद के पटल पर पेश की जाएगी.

गौरतलब है कि कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसाल्ट से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है, उसका मूल्य पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के शासनकाल में किए गए समझौते की तुलना में बहुत अधिक हैं जिससे सरकारी खजाने को हजारों करोड़ों रूपए का नुकसान हुआ है. पार्टी का यह भी दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सौदे को बदलवाया जिससे एचएएल से कॉन्ट्रैक्ट लेकर एक निजी समूह को कंपनी को दिया गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi