S M L

राहुल गांधी: महिलाओं की जो स्थिति पिछले चार सालों में हुई है वो 3000 सालों में भी नहीं थी

रायपुर में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी ने बीजेपी पर तीखे हमले किए और राफेल विमान समझौते से लेकर पनामा पेपर्स तक में सतापक्ष को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया

Updated On: Aug 10, 2018 08:23 PM IST

FP Staff

0
राहुल गांधी: महिलाओं की जो स्थिति पिछले चार सालों में हुई है वो 3000 सालों में भी नहीं थी

छत्तीसगढ़ की राजधानी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी की प्रदेश इकाई के नवनिर्मित कार्यालय का उद्घाटन किया. इस मौके पर गांधी ने देश में लगातार हो रही महिलाओं के रेप की घटनाओं पर भी प्रधानमंत्री पर तीखा हमला किया. राहुल गांधी ने कहा कि मोदी ने उत्तर प्रदेश, बिहार और राजस्थान में बलात्कार की घटनाओं पर एक शब्द भी नहीं बोला है. उन्होंने बलात्कार की घटनाओं के बारे में कहा कि स्थिति 'पिछले तीन हजार सालों में' भी इतनी खराब कभी नहीं रही.

राहुल गांधी ने कहा- 'जब यूपी बिहार में महिलाओं का रेप होता है तो पीएम एक शब्द भी नहीं बोलते. ये ऐसा प्रश्न है जो न सिर्फ आपके बल्कि देश की हर महिला के दिल में है. आखिर बीजेपी शासित राज्यों में रेप की घटनाएं क्यों हो रही हैं? पिछले चार साल में महिलाओं के साथ जो हुआ वो तीन हजार सालों में भी नहीं हुआ था.'

राफेल विमान का मुद्दा भी उठाया

साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष राफेल लड़ाकू विमान सौदे को देश का 'अब तक का सबसे बड़ा' रक्षा घोटाला करार देते हुए इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जिम्मेदार ठहराया.

उन्होंने मध्यप्रदेश के रायपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए दावा किया कि राफेल विमानों का दाम 540 करोड़ रुपये प्रति विमान से 'जादुई तरीके से' बढ़कर 1600 करोड़ रुपये प्रति विमान हो गया. भारत ने 2015 में फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये थे.

राहुल गांधी ने कहा, 'संप्रग सरकार ने राफेल करार तैयार किया था जिसके अनुसार हर विमान का दाम करीब 540 करोड़ रुपये था. करार तैयार था और मोदी जी को केवल फैसला करना था.' गांधी ने कहा, 'लेकिन, मोदी जी फ्रांस गये और उन्होंने पिछला करार खत्म कर दिया और रक्षा मंत्री तथा अन्य कैबिनेट मंत्रियों को इसके बारे में पता नहीं था.'

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि लड़ाकू विमान के संबंध में एक अनुबंध सरकारी हिन्दुस्तान ऐरोनाटिक्स लिमिटेड से छीन लिया गया और इसे एक निजी कंपनी को दे दिया गया जिसने कभी विमान नहीं बनाया और ना ही कभी कोई रक्षा अनुबंध लिया. उन्होंने दावा किया, 'जिस कंपनी से करार किया गया उस पर 45 हजार करोड़ रुपये का ऋण था.'

इस मुद्दे पर राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला किया. अविश्वास प्रस्ताव के समय संसद में उठाए गए अपने सवाल का भी जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि- 'मैंने पार्लियामेंट में रक्षा मंत्री से कहा कि आपने हिंदुस्तान को झूठ क्यों बोला? जवाब नहीं मिला. जब मैंने मोदी जी को कहा, वो अपनी आंख मेरी आंख से मिला नहीं पाए. आपने टीवी में देखा वो इधर उधर देख रहे थे. क्यों? क्योंकि चौकीदार अब भागीदार बन गया है.'

पनामा पेपर्स का भी जिक्र किया

राहुल गांधी इतने पर ही नहीं रुके. अपने आरोपों में उन्होंने पनामा पेपर्स का भी नाम लिया और बीजेपी पर आरोप लगाए. राहुल गांधी ने कहा- 'जब पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का नाम पनामा पेपर्स में आया तो उन्हें सजा भी हुई. लेकिन छत्तीसगढ़ में जब मुख्यमंत्री के बेटे का नाम पनामा पेपर्स में आता है तो जांच तक नहीं होती. ये बीजेपी-एनडीए की चौकीदारी है.'

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi