S M L

हर धर्म में औरतों के साथ अन्याय, राम ने भी सीता को छोड़ा था: कांग्रेस MP

हुसैन दलवई ने ये कहकर विवाद को जन्म दे दिया है कि हर धर्म में औरतों के साथ अन्याय होता है. यहां तक कि श्री राम ने भी सीता को छोड़ दिया था

Updated On: Aug 10, 2018 03:57 PM IST

FP Staff

0
हर धर्म में औरतों के साथ अन्याय, राम ने भी सीता को छोड़ा था: कांग्रेस MP

तीन तलाक बिल फिर राज्यसभा में अटक गया है. मॉनसून सत्र के आखिरी दिन इस पर चर्चा की जानी थी. विपक्ष के हंगामे के बाद बिल पर आम सहमति न बन पाने के कारण इसे शीतकालीन सत्र तक टाल दिया गया.

तीन तलाक बिल मौजूदा वक्त में सरकार और विपक्ष राजनीति का मुद्दा बना हुआ है. वक्त-वक्त पर दोनों एक दूसरे पर तीन तलाक बिल को रोकने या इसमें खामियां होने के आरोप लगाते रहते हैं. तीन तलाक को लेकर विवाद भी रहा है. अब एक और बयान सामने आया है, जिसको लेकर विवाद हो रहा है.

कांग्रेस सांसद हुसैन दलवई ने ये कहकर विवाद को जन्म दे दिया है कि हर धर्म में औरतों के साथ अन्याय होता है. यहां तक कि श्री राम ने भी सीता को छोड़ दिया था.

दलवई ने कहा, 'बस मुस्लिम धर्म में ही नहीं, हिंदू, ईसाई और सिखों में भी औरतों के साथ अन्याय होता है. हर समाज में पुरुषों का आधिपत्य है. यहां तक कि श्री राम ने भी सीता पर संदेह करके उन्हें छोड़ दिया था. इसलिए हमें इस पूरी प्रवृत्ति को खत्म करना होगा.'

उनके इस बयान पर बीजेपी ने आपत्ति जताई है. बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग कर ली है. वहीं आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा ने कहा कि एक तरफ कांग्रेस राज्यसभा में तीन तलाक बिल पास होने नहीं दे रही है, वहीं बाहर उसके नेता हिंदू देवी-देवताओं का अपमान कर रहे हैं.

विवाद बढ़ता देख हुसैन दलवई ने माफी मांग ली है. उन्होंने कहा, 'मैंने जो कहा वो गलत था, मैंने माफी मांग ली है. मैं किसी की भावनाएं आहत नहीं करना चाहता था. इसपर जानबूझकर राजनीति की जा रही है. जो मैंने कहा उसपर राहुल गांधी माफी क्यों मांगेंगे?'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi