S M L

क्या कांग्रेस भी कराती है दीवारों का 'भगवाकरण', यकीन न हो तो पढ़ें खबर

आगंतुकों के लिए यह वाकया हैरान कर देने वाला था क्योंकि जो पार्टी भगवाकरण के नाम पर बीजेपी को कोसती रही हो, आज उसी की दर-ओ-दीवार 'भगवा' में तब्दील थी

FP Staff Updated On: Aug 04, 2018 04:50 PM IST

0
क्या कांग्रेस भी कराती है दीवारों का 'भगवाकरण', यकीन न हो तो पढ़ें खबर

अगर आपको लगता है कि केवल बीजेपी ही शौचालय और इमारतों का 'भगवाकरण' कराती है, तो आप गलत हैं. देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस भी अब इस 'रेस' में कूद गई है.

घटना यूपी की है जहां कांग्रेस के मीडिया सेंटर का 'भगवाकरण' हुआ लेकिन बात जबतक कानों-कान पहुंचती, पार्टी ने भगवा का 'सफेदीकरण' करा दिया.

लखनऊ के मॉल एवेन्यू में कांग्रेस का मीडिया सेंटर है. यहां पहुंचे पत्रकार और मुलाकाती तब चौंक गए जब उन्होंने कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी प्रवक्ता के कमरे की दीवार भगवा रंग में पुती देखी. आगंतुकों के लिए यह वाकया हैरान कर देने वाला था क्योंकि जो पार्टी भगवाकरण के नाम पर बीजेपी को कोसती रही हो, आज उसी की दर-ओ-दीवार 'भगवा' में तब्दील थी.

न्यूज18 की रिपोर्ट के मुताबिक, मीडिया सेंटर पहुंचे खबरनवीसों के लिए यह वाकया खबर से ज्यादा हास्य और विनोद का मसला था. पत्रकारगण दीवार की तस्वीर लेते दिखे. कोई मोबाइल से तो कोई अपने हाईटेक कैमरे से. देखते-देखते कांग्रेस मीडिया सेंटर के 'भगवाकरण' की तस्वीर वायरल हो गई.

फोटो न्यूज18 से

फोटो न्यूज18 से

अंततः कांग्रेस को अपनी झेंप बचाने के लिए बयान जारी करना पड़ा. पार्टी ने भगवा को तिरंगे का नुमाइंदा रंग तो बताया लेकिन बाद में दीवार की सफेदी करा दी.

मामला यही नहीं रुका. यूपी कांग्रेस कमेटी के एक सीनियर नेता ने 'भगवाकरण' का ठीकरा पेंटर के माथे फोड़ दिया. उन्होंने कहा, दरअसल दीवार पीत रंग में रंगी जानी थी लेकिन पेंटर ने शायद गलत रंग का चयन कर लिया.

यूपी में 'भगवाकरण' की राजनीति तब से चरम पर है जब से योगी आदित्यनाथ प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं. गत अक्टूबर में इसका पहला मामला तब प्रकाश में आया जब सचिवालय की दीवारें भगवा रंग में रंगी गईं. शास्त्री भवन और लखनऊ के हज हाउस का भी 'भगवाकरण' हुआ. कांग्रेस ने 'रंग की राजनीति' पर बीजेपी को खूब कोसा लेकिन किसे पता था कि एक दिन वही पार्टी इस विवाद का ग्रास बन जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi