S M L

शिकायतकर्ता पुलिसकर्मी बना जांच अधिकारी, आप MLA अदालत से बरी

न्यायाधीश ने कहा, ‘मेरा नजरिया यह है कि जिस तरह से अभियोजन शुरू किया गया है और मेरिट के आधार पर भी आरोपी आरोपमुक्त होने का हकदार है

Updated On: Feb 04, 2018 12:20 PM IST

Bhasha

0
शिकायतकर्ता पुलिसकर्मी बना जांच अधिकारी, आप MLA अदालत से बरी

दिल्ली में एक रोचक मामला सामने आया है. आप के एक एमएलए को अदालत से इस आधार पर बेल मिल गई कि उसके खिलाफ शिकायत करनेवाला ही जांचकर्मी बन बैठा था.

मामला यूं है कि आम आदमी पार्टी के विधायक सुरेंद्र कुमार पर साल 2014 में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचान का आरोप लगा. उनपर मुकदमा दर्ज किया गया. यह किसी और ने नहीं, बल्कि दिल्ली पुलिस के एक जवान ने किया था. जब जांच का वक्त आया तो वही पुलिसकर्मी जांच अधिकारी भी बन बैठा.

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटियन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने दिल्ली पुलिस की ओर से दायर आरोप पत्र में विभिन्न खामियों का हवाला देते हुए विधायक को आरोप मुक्त कर दिया.

कोर्ट ने कहा मेरिट के आधार पर हो सकते हैं आरोपमुक्त

सिंह को इसी मामले में पिछले साल पांच अगस्त को मामले में लगातार गैरहाजिर रहने के चलते गिरफ्तार भी किया गया था. हालांकि उन्हें बाद में जमानत दे दी गई थी.

आप विधायक को बरी करते हुए न्यायाधीश ने कहा, ‘मेरा नजरिया यह है कि जिस तरह से अभियोजन शुरू किया गया है और मेरिट के आधार पर भी आरोपी आरोपमुक्त होने का हकदार है.’

अदालत ने रेखांकित किया कि शिकायतकर्ता हेड कांस्टेबल खुद जांच अधिकारी बन गया और तहकीकात की अवधारणा को ही दांव पर लगा दिया.

अदालत ने बताया खोखला बहाना

इसने कहा, ‘दूसरे, जांच अधिकारी बैनर को जब्त करने को लेकर बिल्कुल भी चिंतित नहीं था और यह बहाना बना रहा है कि वे ऊंचाई पर रखे थे जिस वजह से उसे हटा नहीं सका और जब्त नहीं कर सका.’

अदालत ने इसे खोखला बहाना बताया. इसने यह भी कहा कि इस बात की कोई जांच नहीं की गई कि क्या आरोपी ने खुद बैनर लगाए थे. आरोप पत्र इसपर खामोश है. यह मामला पश्चिम दिल्ली के नारायणा इलाके का था जहां कथित रूप से पोस्टर और होर्डिंग्स लगाए गए थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi