S M L

कांग्रेस के साथ गठजोड़ के पक्ष में नहीं हैं केरल के सीएम विजयन

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यह दुखद है कि कुछ संवैधानिक निकाय सरकार के हाथों की ‘कठपुतली’ की तरह काम कर रहे हैं

Bhasha Updated On: Apr 01, 2018 02:34 PM IST

0
कांग्रेस के साथ गठजोड़ के पक्ष में नहीं हैं केरल के सीएम विजयन

अगले लोकसभा चुनाव के लिये बीजेपी विरोधी मोर्चे को लेकर बातचीत के बढ़ते दौरों के बीच केरल के मुख्यमंत्री पिन्नाराई विजयन ने कहा कि वह विपक्ष का गठबंधन बनाने के लिए कांग्रेस से हाथ मिलाने के इच्छुक नहीं हैं और उन्हें लगता है कि इसके बजाए लोगों को ‘असली राजनीतिक विकल्प’ देना उद्देश्य होना चाहिए.

विजयन ने कहा कि इन दिनों क्षेत्रीय दल ‘मजबूत’ हैं और अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनावों में बीजेपी का मुकाबला करने के लिए इनके बीच के तालमेल का इस्तेमाल किया जा सकता है.

बीजेपी पर देश की लोकतांत्रिक मान्यताओं को ध्वस्त करने का आरोप लगाते हुए सीपीएम के वरिष्ठ नेता ने कहा कि जिन लोगों को हराना अत्यावश्यक हो उन्हें हराने के लिए क्षेत्रीय दलों के बीच सहयोग जरूरी है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनके तेलंगाना के अपने समकक्ष और तेलंगाना राष्ट्र समिति के अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव के कांग्रेस या कांग्रेस के बगैर ऐसा संघीय मोर्चा बनाने के प्रयासों की पृष्ठभूमि में विजयन का यह बयान आया है.

धर्मनिरपेक्ष क्षेत्रीय दलों को एकजुट करने पर दिया जोर

विजयन ने पीटीआई को दिए एक विशेष साक्षात्कार में कहा, ‘इन दिनों क्षेत्रीय दल मजबूत हैं. असली राजनीतिक विकल्प के लिए चुनावों के दौरान क्षेत्रीय विकल्प पर विचार किया जा सकता है. राष्ट्रीय स्तर पर किसी एक खास पार्टी से हाथ मिलाने का कोई औचित्य नहीं है.’

इस साल जनवरी में सीपीएम की केंद्रीय समिति द्वारा मंजूर किए गए मसौदा राजनीतिक प्रस्ताव में कांग्रेस के साथ किसी भी तरह के चुनावी गठजोड़ या समझौते को खारिज किया गया था.

समिति ने लेकिन कहा था कि पार्टी का मुख्य उद्देश्य ‘भारतीय जनता पार्टी को हराना’ है और वह इस मकसद के लिए सभी ‘लोकतांत्रिक ताकतों को संगठित करेगी.’

रोचक बात यह है कि सीपीएम ने 30 मार्च को घोषणा की थी कि वह कर्नाटक में आगामी विधानसभा चुनावों के दौरान बीजेपी को हराने के लिए ‘सबसे मजबूत उम्मीदवार’ का समर्थन करेगी जिसका मतलब कांग्रेस उम्मीदवार का समर्थन करना भी हो सकता है.

बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार पर करारा हमला जारी रखते हुए विजयन ने कहा कि सभी धर्मनिरपेक्ष लोग देश में हो रही घटनाओं से व्यथित हैं और यही एक आंदोलन में बदलकर दक्षिणपंथी सरकार को सत्ता से बाहर करेगा.

इस हफ्ते की शुरुआत में सीपीएम की केंद्रीय समिति की बैठक में शामिल होने विजयन दिल्ली आए थे.

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यह दुखद है कि कुछ संवैधानिक निकाय सरकार के हाथों की ‘कठपुतली’ की तरह काम कर रहे हैं. उनके इस बयान को निर्वाचन आयोग पर निशाने के तौर पर देखा जा रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi