S M L

पुडुचेरी: 48 महीने की हमारी सरकार, 48 साल उनका कारोबार- पीएम मोदी

कुछ महीने बाद नारायणसामी को कांग्रेस एग्जिबशन के तौर पर उनको देशभर में दिखाएगी. क्योंकि वह कांग्रेस के एकमात्र सीएम रह जाएंगे

Updated On: Feb 25, 2018 03:22 PM IST

FP Staff

0
पुडुचेरी: 48 महीने की हमारी सरकार, 48 साल उनका कारोबार- पीएम मोदी

तमिलनाडु, कर्नाटक के बाद पीएम मोदी केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी पहुंचे. यहां उन्होंने द्विभाषिए की मदद से जनसभा को संबोधित किया. वहां की समस्याएं गिनाई, इसके लिए कांग्रेस को जिम्मेवार ठहराया, लोगों को उम्मीद जगाई कि बीजेपी के आने से यह राज्य बेहतर कर सकता है, उन्होंने न्यू पुडुचेरी बनाने की बात कही.

उन्होंने यहां भी कांग्रेस की को निशाने पर लिया. कहा कि पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरु ने लगभग 17 सालों तक इस देश का शासन संभाला, उसके बाद उनकी बेटी ने लगभग 14 सालों तक देश का काम संभाला. 2004 से 2014 तक यह परिवार रिमोट कंट्रोल से सरकार चलाता रहा.

यदि कुल मिलाकर हिसाब लगाएं तो इस एक परिवार ने लगभग 48 सालों तक इस देश के शासन तंत्र को प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से चलाया है.

इस मई महीने में हमारी सरकार को 48 माह होनेवाले हैं. एक तरफ देश के बुद्धिजीवी वर्ग को विचार करना होगा कि एक परिवार के शासन में क्या खोया क्या पाया. इधर 48 महीने में क्या दिया है. 48 साल बनाम 48 माह की सरकार से तुलना करें. देखें कि क्या तुलना हो सकती है. लोग विचार करें.

नारायणसामी को एग्जिबिशन के तौर पर दिखाएगी कांग्रेस 

इसके बाद उन्होंने पुडुचेरी के सीएम नारायणसामी को निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव में नॉर्थ ईस्ट के कुछ राज्यों से, कर्नाटक से कांग्रेस की सरकार जानेवाली है. जून के बाद केवल पुडुचेरी में नारायणसामी कांग्रेस के सीएम रह जाएंगे. इसके बाद कांग्रेस एग्जिबशन के तौर पर उनको देशभर में दिखाएगी.

पीएम मोदी ने कहा कि एक जमाने में यहां का टेक्सटाइल सेक्टर इतना समृद्ध था, लेकिन अब उसकी चमक फीकी पड़ गई है. जहां देशभर में ट्रांसपोर्टेशन बेहतर होती जा रही है. वहीं पुडुचेरी में खराब होती जा रही है, कांग्रेसी कल्चर का शिकार बना हुआ है पुडुचेरी.

कांग्रेस पार्टी पुडुचेरी में पंचायत चुनाव तक नहीं होने दे रही 

पीएम मोदी ने लोगों से पूछा कि क्या यहां उद्योग परफॉर्म कर पा रहे हैं. पुडुचेरी में शासन करनेवाली सरकारों ने इस धरती के साथ अन्याय किया है. एक के बाद एक आनेवाली सरकारों ने यहां की क्षमता को नजरअंदाज किया है. पुडुचेरी के विकास पर कई दशकों से ब्रेक लगा दिया गया है.

भले ही यह केंद्रशासित प्रदेश है, लेकिन जैसे केंद्र में कई दशकों तक कांग्रेस की सरकार रही, वैसे ही यहां उसकी सरकार रही, विकास में क्यों पिछड़ा इसका जवाब कांग्रेस पार्टी को, यहां के शासक को, कांग्रेस के नेताओं को देना होगा.

दिल्ली में बैठकर कांग्रेस के नेता लोकतंत्र की बातें करते रहते हैं. लेकिन मैं इन महारथियों से पूछना चाहता हूं कि यहां पंचायतों के चुनाव क्यों नहीं होते हैं. यहां गांव के लोगों को हक नहीं देने दिया जाता है. दिल्ली में बैठकर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं और लोकतंत्र का गला घोटने का काम करते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi