S M L

CJI के खिलाफ महाभियोग पर बोले जेटली- कोर्ट में फूट का फायदा उठाना चाहती है कांग्रेस

जेटली ने कहा कि कांग्रेस को इस राजनीति का तत्काल कर्नाटक में नुकसान होने जा रहा है

Bhasha Updated On: May 08, 2018 08:51 PM IST

0
CJI के खिलाफ महाभियोग पर बोले जेटली- कोर्ट में फूट का फायदा उठाना चाहती है कांग्रेस

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग के मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी कोर्ट में मतभेद का फायदा उठाना चाहती है और इस मुद्दे पर हासिये की राजनीति कर रही है. जेटली ने कहा कि कांग्रेस को इस राजनीति का तत्काल कर्नाटक में नुकसान होने जा रहा है.

कांग्रेस के दो सांसदों ने सुप्रीम कोर्ट से मंगलवार को ही अपनी वह याचिका वापस ले ली जिसमें चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर संसद में महाभियोग प्रस्ताव लाने के नोटिस को खारिज करने के राज्यसभा के सभापति एम वैंकया नायडू के निर्णय को चुनौती दी गई थी.

जेटली ने अपनी फेसबुक टिप्पणी में कहा कि कोर्ट में फूट को देखते हुए कांग्रेस संकट का फायदा उठाना चाहती है. यदि महाभियोग प्रस्ताव में ही कोई दम नहीं था तो उसको खारिज करने वाले राज्यसभा के सभापति के आदेश को चुनौती देने वाली रिट याचिका के पक्ष में कोई तर्क नहीं बनता. जेटली ने कहा कि किसी प्रस्ताव को स्वीकार करने या नहीं करने के राज्यसभा चेयरमैन के निर्णय को कोर्ट की समीक्षा का विषय नहीं बनाया जा सकता है.

वित्त मंत्री ने कहा लेकिन कांग्रेस संकट का लाभ उठाना चाहती है. इसी लिए उसने इस मुद्दे की सुनवाई के लिए संविधान पीठ की मांग का उल्लेख ‘अपने पसंद की पीठ’ में करने की रणनीति अपनाई ताकि एक मामला जो तर्क के लायक नहीं था वह एक अधिक उदार पीठ के तर्क लायक हो जाए.

जेटली खुद भी एक जाने माने वकील हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी अपने मनमाफिक मैदान में खेल खेलना चाहती थी. उन्होंने इस बात पर भी आश्चर्य जताया कि एक राष्ट्रीय पार्टी के लिए क्या यह ठीक होगा कि वह मुख्यधारा से हटकर इस तरह की हासिये वाली भूमिका चुने?

जेटली ने कहा कि वास्तव में हर कांग्रेसी को इसकी कीमत चुकानी होगी क्योंकि उसके नेता ने मुख्यधारा में रह कर काम करने के बजाय हासिये की चाल चलने का फैसला किया है. कर्नाटक में कांग्रेसियों को तुरंत इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi