S M L

छत्तीसगढ़ चुनाव: बीजेपी ने मौजूदा विधायकों पर भरोसा जताया

पार्टी द्वारा शनिवार को जारी पहली सूची में राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से 77 के लिए उम्मीदवार घोषित किए गए. बीजेपी ने 11 मंत्रियों सहित 32 मौजूदा विधायकों को टिकट दिया है

Updated On: Oct 21, 2018 07:20 PM IST

Bhasha

0
छत्तीसगढ़ चुनाव: बीजेपी ने मौजूदा विधायकों पर भरोसा जताया
Loading...

भारतीय जनता पार्टी ने आगामी छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए अपने अधिकतर मौजूदा विधायकों पर भरोसा जताया है और साथ ही इसने 14 ऐसे नेताओं को टिकट दिया है जो 2013 में पिछला विधानसभा चुनाव हार गए थे.

पार्टी द्वारा शनिवार को जारी पहली सूची में राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से 77 के लिए उम्मीदवार घोषित किए गए. बीजेपी ने 11 मंत्रियों सहित 32 मौजूदा विधायकों को टिकट दिया है.

इसने केवल एक मंत्री-रमशीला साहू को टिकट देने से इनकार किया गया है जो दुर्ग ग्रामीण सीट से विधायक हैं. राज्य में 12 और 20 नवंबर को दो चरणों में मतदान होगा.

बीजेपी के प्रदेश महासचिव संतोष पांडेय ने पीअीआई-भाषा से कहा, ‘पार्टी नेतृत्व ने महिलाओं को 14 सीट, 40 साल से कम उम्र के युवाओं को 25 सीट और 53 सीट कृषि पृष्ठभूमि से ताल्लुक रखने वाले उम्मीदवारों को देकर समाज के सभी तबकों को प्रतिनिधित्व देने की कोशिश की है.’

उन्होंने कहा कि मौजूदा विधायकों और 2013 में चुनाव हारने वाले उम्मीदवारों को संबंधित क्षेत्रों में उनके काम को देखते हुए टिकट दिया गया है. यह पूछे जाने पर कि क्या ‘पुराने चेहरों’ पर भरोसा करना बीजेपी की संभावनाओं को नुकसान पहुंचा सकता है, उन्होंने कहा कि नहीं.

पांडेय ने कहा कि पार्टी ने इस बार 65 से ज्यादा सीट जीतने का लक्ष्य तय किया है और 'हमें इसे हासिल करने का विश्वास है.'

मुख्यमंत्री रमन सिंह राजनांदगांव सीट से चुनाव लड़ेंगे. वहीं, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल को कसडोल सीट से टिकट दिया गया है.

पार्टी ने जिन मंत्रियों को टिकट दिए हैं, उनमें बृजमोहन अग्रवाल (रायपुर दक्षिण), राजेश मूणत (रायपुर पश्चिम), अमर अग्रवाल (बिलासपुर), भईया लाल राजवाड़े (बैकुंठपुर), रामसेवक पैकरा (प्रतापपुर), पुन्नू लाल मोहले (मुंगेली), केदार कश्यप (नारायणपुर), महेश गागड़ा (बीजापुर), प्रेम प्रकाश पांडेय (भिलाई नगर), दयालदास बघेल (नवागढ़) और अजय चंद्राकर (कुरुड) शामिल हैं. साल 2013 में ननकीराम कंवर, लता उसेंडी ओर चंद्रशेखर साहू सहित पांच तत्कालीन मंत्री चुनाव हार गए थे.

पिछली बार चुनाव हारने के बावजूद उसेंडी और साहू को क्रमश: कोंडागांव और अभनपुर सीटों से टिकट दिया गया है.

वर्ष 2008 से 2013 तक विधानसभा अध्यक्ष रहे प्रदेश बीजेपी प्रमुख धर्मलाल कौशिक भी पिछली बार बिल्हा सीट से चुनाव हार गए थे. उन्हें भी इस बार टिकट दिया गया है.

यादव पूर्व में 2009 से 2014 तक राजनांदगांव लोकसभा सीट से सांसद थे

पिछले चुनाव में हारने वाले अन्य जिन नेताओं को टिकट दिया गया है, उनमें रजनी त्रिपाठी (भटगांव), सिद्धार्थ पैकरा (सामरी), विजयनाथ सिंह बाबा (लुंड्रा), अनुराग सिंहदेव (अंबिकापुर), नारायण चंदेल (जांजगीर-चम्पा), नंदे साहू (रायपुर ग्रामीण), कोमल जंघेल (खैरागढ़), भीमा मंडावी (दंतेवाड़ा), धनीराम बारसे (कोंटा) और कृष्णमूर्ति बांधी (मस्तूरी) शामिल हैं.

पांडेय ने कहा कि बीजेपी के दो महापौरों-राजनांदगांव नगर निगम से मधुसूधन यादव और दुर्ग नगर निगम से चंद्रिका चंद्राकर को क्रमश: दोंगरगांव और दुर्ग शहरी सीटों से उम्मीदवार बनाया गया है. यादव पूर्व में 2009 से 2014 तक राजनांदगांव लोकसभा सीट से सांसद थे.

कांकेर लोकसभा सांसद विक्रम उसेंडी को अंतागढ़ विधानसभा सीट से पार्टी के मौजूदा विधायक भोजराज नाग की जगह टिकट दिया गया है. उसेंडी इस सीट से पहले भी विधायक रह चुके हैं.

कोरबा लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद बंशीलाल महतो के पुत्र विकास महतो को कांग्रेस का गढ़ मानी जाने वाली कोरबा विधानसभा सीट से टिकट दिया गया है.

हाल में रायपुर के कलेक्टर पद से इस्तीफा देने वाले पूर्व आई ए एस अधिकारी ओ पी चौधरी को खरसिया विधानसभा सीट से टिकट दिया गया है.

बीजेपी ने अन्य पिछड़ा वर्ग समुदाय से 10 उम्मीदवारों को टिकट देकर पहली सूची में साहू लोगों को अच्छा प्रतिनिधित्व दिया है.

पहले चरण में आठ नक्सल प्रभावित जिलों-बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा, कोंडागांव, कांकेर, नारायणपुर और राजनांदगांव में 18 विधानसभा सीटों के लिए 12 नवंबर को मतदान होगा. शेष 72 सीटों के लिए दूसरे चरण में 20 नवंबर को मतदान होगा.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi