S M L

नोटबंदी पर बोले राहुल गांधी- एटीएम की कतार में थी जनता, माल्या-मोदी पैसे लूटकर भागे

राहुल ने कहा कि आम जनता को संसाधनों का कोई लाभ नहीं मिला

Updated On: Nov 09, 2018 02:51 PM IST

FP Staff

0
नोटबंदी पर बोले राहुल गांधी- एटीएम की कतार में थी जनता, माल्या-मोदी पैसे लूटकर भागे
Loading...

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कांकेर के पखांजुर में चुनावी सभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने नोटबंदी के मुद्दे को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'जनता को लाइन में खड़ा करके क्या मिला? एक तरफ जनता पैसों के लिए लाइन में खड़ी थी, वहीं नीरव मोदी, विजय माल्या, ललित मोदी और मेहुल चोकसी जैसे लोग पैसे लूटकर फरार हो गए. लेकिन काला धन रखने वाला एक भी आदमी नहीं दिखाई दिया'

न्यूज18 के मुताबिक राहुल ने सीएम रमन सिंह पर निशाना साधते हुए कहा, 'नान घोटाले में सीएम मैडम का नाम सामने आया था इसलिए सीएम को बताना चाहिए था कि सीएम मैडम कौन हैं?' राहुल ने यह भी कहा कि आम जनता को संसाधनों का कोई लाभ नहीं मिला.

राहुल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कई सालों से बीजेपी की सरकार है. यहां पर्याप्त धन होने के बावजूद भी आम जनता को संसाधनों का कोई लाभ नहीं मिला. 10 से 15 बिजनेसमैनों को लाभ देने के लिए ही सीएम रमन सिंह और पीएम मोदी काम करते हैं.

पहले चरण के मतदान में होगा रमन सिंह के भाग्य का फैसला

छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव में दो चरणों मे मतदान होगा. पहले चरण में इस महीने की 12 तारीख को बस्तर क्षेत्र के सात जिले और राजनांदगांव जिले की 18 सीटों अंतागढ़, भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोंडागांव, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, चित्रकोट, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोंटा, राजनांदगांव, डोंगरगढ़, डोंगरगांव, खुज्जी, खैरागढ़ और मोहला-मानपुर पर मतदान होगा. इन सीटों में से 12 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और एक सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है.

पहले चरण में राजनांदगांव से मुख्यमंत्री रमन सिंह और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी चुनाव मैदान में हैं. वहीं, पहले चरण में रमन मंत्रिमंडल के दो सदस्यों और एक बीजेपी सांसद के भाग्य का भी फैसला होना है.

2013 में बीजेपी ने 90 में से 49 सीटों पर हासिल की थी जीत

राज्य में भारतीय जनता पार्टी पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है और इस बार वह 65 सीटों पर जीत के साथ चौथी बार सरकार बनाने का प्रयास कर रही है. वहीं कांग्रेस इस बार सत्ता में आने का प्रयास कर रही है. राज्य में सरकार बचाने और बनाने के लिए बीजेपी और कांग्रेस ने अपनी ताकत झोंक दी है.

इधर, राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ (जे) बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के साथ गठबंधन कर चुनाव मैदान में है जिससे कई सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है.

राज्य में वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में 90 सीटों में से 49 सीटों पर बीजेपी ने और 39 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की थी. वहीं एक-एक सीट पर बीएसपी और निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत हासिल की थी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi