S M L

छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: कार्यकर्ताओं की नाराजगी नजरअंदाज कर मौजूदा विधायकों को दिया मौका

बीजेपी ने इस बार छत्तीसगढ़ में 14 ऐसे नेताओं को टिकट दिया है जो 2013 में पिछला विधानसभा चुनाव हार गए थे

Updated On: Oct 23, 2018 09:14 PM IST

FP Staff

0
छत्तीसगढ़ चुनाव 2018: कार्यकर्ताओं की नाराजगी नजरअंदाज कर मौजूदा विधायकों को दिया मौका
Loading...

छत्तीसगढ़ में बीजेपी ने कार्यकर्ताओं की नाराजगी के बाद भी  ज्यादातर मौजूदा विधायकों पर ही एक बार फिर दांव लगाया है. छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में दोनों विधानसभा सीटों के लिए बीजेपी ने जिन सीटिंग एमएलए को टिकट दिए हैं उनके खिलाफ बीजेपी कार्यकर्ता पहले ही कई बार शिकायत कर चुके हैं. खासकर पंडरिया विधायक को लेकर क्षेत्र के कार्यकर्ताओं ने आपत्ति जताई थी. इस मामले को लेकर कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री को लिखित शिकायत भी की थी.  इसके बावजूद फिर से इन्हीं को मौका दिया गया है.

न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी के जिला अध्यक्ष का कहना है कि सभी कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर कर ली जाएगी और दोनों सीटों पर बीजेपी की ही जीत होगी.

32 मौजूदा विधायकों को मिला टिकट

इसके अलावा बीजेपी ने इस बार छत्तीसगढ़ में 14 ऐसे नेताओं को टिकट दिया है जो 2013 में पिछला विधानसभा चुनाव हार गए थे. बीजेपी ने शनिवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए पहली लिस्ट जारी की. इसमे 90 विधानसभा सीटों में से 77 के लिए उम्मीदवारों का ऐलान किया गया. इस लिस्ट के मुताबिक बीजेपी ने 11 मंत्रियों समेत 32 मौजूदा विधायकों को टिकट दिया है.

लिस्ट जारी होने के बाद बीजेपी के प्रदेश महासचिव संतोष पांडे ने कहा कि मौजूदा विधायकों और 2013 में चुनाव हारने वाले विधायकों को उनका काम देखते हुए एक बार फिर मौका दिया गया है. इसी के साथ उन्होंने ये भी कहा कि पुराने चेहरों को एक बार फिर मौका देने से बीजेपी की जीत पर कोई नकारात्मक असर नहीं पड़ेगा.

पिछले चुनाव में हारने वाले  जिन नेताओं को टिकट दिया गया है, उनमें रजनी त्रिपाठी (भटगांव), सिद्धार्थ पैकरा (सामरी), विजयनाथ सिंह बाबा (लुंड्रा), अनुराग सिंहदेव (अंबिकापुर), नारायण चंदेल (जांजगीर-चम्पा), नंदे साहू (रायपुर ग्रामीण), कोमल जंघेल (खैरागढ़), भीमा मंडावी (दंतेवाड़ा), धनीराम बारसे (कोंटा) और कृष्णमूर्ति बांधी (मस्तूरी) शामिल हैं

हाल में रायपुर के कलेक्टर पद से इस्तीफा देने वाले पूर्व आई ए एस अधिकारी ओ पी चौधरी को खरसिया विधानसभा सीट से टिकट दिया गया है.

पहले चरण में 8 नक्सल प्रभावित जिलों-बस्तर, बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा, कोंडागांव, कांकेर, नारायणपुर और राजनांदगांव में 18 विधानसभा सीटों के लिए 12 नवंबर को वोटिंग होगी. वहीं बाकि 72 सीटों के लिए दूसरे चरण में 20 नवंबर को वोटिंग होगी.

(भाषा से इनपुट)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi