S M L

अमित शाह हमारे बारे में झूठ क्यों फैला रहे हैं : चंद्रबाबू नायडू

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के खुले खत के जवाब में चंद्रबाबू नायडू ने कहा है कि बीजेपी अध्यक्ष झूठ क्यों फैला रहे हैं

FP Staff Updated On: Mar 24, 2018 09:45 PM IST

0
अमित शाह हमारे बारे में झूठ क्यों फैला रहे हैं : चंद्रबाबू नायडू

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने खुले खत में लिखा था कि एन चंद्रबाबू नायडू का एनडीए छोड़ने का फैसला दुर्भाग्यपूर्ण और एकतरफा है. इसके जवाब में टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि पता नहीं बीजेपी अध्यक्ष झूठ क्यों फैला रहे हैं.

आंध्र प्रदेश विधानसभा में सीएम नायडू ने शनिवार को कहा, 'अपने पत्र में अमित शाह ने कहा कि केंद्र ने राज्य को कई फंड दिए, लेकिन हम उनका इस्तेमाल नहीं कर सके. वे कहना चाह रहे हैं कि आंध्रप्रदेश सरकार सक्षम नहीं है. हमारी सरकार में राज्य की जीडीपी अच्छी है, कृषि और अन्य क्षेत्रों में हमें कई राष्ट्रीय अवॉर्ड मिले हैं. ये हमारी क्षमता है. आप झूठ क्यों फैला रहे हैं.'

केंद्र सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिये जाने के चलते बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन से टीडीपी बाहर हो गई है. टीडीपी ने लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए नोटिस भी दिया है, हालांकि लगातार चल रहे हंगामे के बीच यह प्रस्ताव लाया नहीं जा सका है.

शाह पर पलटवार करते हुए नायडू ने कहा, “अमित शाह की चिट्ठी झूठ का पुलिंदा है और इससे बीजेपी की नीयत साफ पता चलती है. केंद्र सरकार उत्तर पूर्वी राज्यों को अब तक विशेष दर्जा देती है, यह अगर आंध्रप्रदेश के साथ किया गया होता तो राज्य में कई इंडस्ट्रीज आ चुकी होतीं.”

बीजेपी को आंध्रप्रदेश के बंटवारे का जिम्मेदार ठहराते हुए नायडू ने कहा कि पार्टी ने पर्दे के पीछे से बंटवारे का समर्थन किया. उन्होंने कहा, "प्रदेश का बंटवारा अवैज्ञानिक तरीके से हुआ जिसके चलते हम 10 साल पीछे चले गए. इसके लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है. आप दावा करते हैं कि आप हमारे समस्याओं के प्रति संवेदनशील हैं लेकिन हकीकत यह है कि बंद दरवाजों के पीछे 20 मिनट के अंदर बंटवारे के बिल को पास करने में आपकी बराबर की भूमिका रही है."

अपने खुले खत में अमित शाह ने लिखा था कि आंध्र प्रदेश के विकास को लेकर मोदी सरकार की प्रतिबद्धता दृढ़ है और इस पर कोई सवाल नहीं उठा सकता. वहीं शाह ने यह भी लिखा कि एनडीए से अलग होने का नायडू का फैसला पूरी तरह राजनीति से प्रेरित है और इसमें प्रदेश के विकास को दरकिनार किया गया है.

शाह ने लिखा हि कि आंध्र प्रदेश के बंटवारे से लेकर भाजपा ने हमेशा आंध्र प्रदेश के लोगों की आवाज उठाई है और लोगों के हितों के लिए काम किया है. उन्होंने लिखा कि बीजेपी तेलगु लोगों और तेलगु राज्य के हित के बारे में सोचती है. उन्होंने लिखा, :"कांग्रेस ने प्रदेश के बंटवारे में लोगों के हितों का खयाल नहीं रखा, जिसकी वजह से लोगों को मुश्किल का सामना करना पड़ता है. कांग्रेस ने बंटवारे के दौरान लोगों की संवेदना का बिल्कुल भी खयाल नहीं रखा."

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi