S M L

GDP विवाद: चिदंबरम ने दी थी चुनौती, नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा- चैलेंज एक्सेप्टेड

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के संशोधित आकंड़ों पर बहस की पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की चुनौती को स्वीकार कर लिया है

Updated On: Nov 29, 2018 09:43 PM IST

Bhasha

0
GDP विवाद: चिदंबरम ने दी थी चुनौती, नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा- चैलेंज एक्सेप्टेड

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के संशोधित आकंड़ों पर बहस की पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की चुनौती को स्वीकार कर लिया है. जीडीपी के संशोधित आंकडों में एनडीए सरकार के दौरान आर्थिक वृद्धि को पिछली यूपीए सरकार के मुकाबले बेहतर दिखाया गया है.

कुमार ने ट्वीट में कहा, 'माननीय पी. चिदंबरम जी, चुनौती स्वीकार. आइये आंकड़ों पर चर्चा करें और इसके सभी हिस्सों का अवलोकन करें. मैंने कल तीन घंटे का विस्तृत साक्षात्कार दिया है और आपकी तरफ से यह आधा अधूरा सत्य लगता है कि मैंने मीडिया से सवाल नहीं पूछने को कहा. नये आंकड़ों के साथ आपकी जो भी दिक्कत है, आप उसका सुसंगत कारण बतायें.'

कुमार की यह प्रतिक्रिया चिदंबरम की उस चुनौती पर आई है ,जिसमें उन्होंने कुमार को आंकडों पर बहस करने की चुनौती दी थी. चिदंबरम ने अपने ट्वीट में कहा था, 'मुझे आश्चर्य है कि क्या नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार पत्रकारों को यह कहने के बजाय कि उनके 'सवाल जवाब देने योग्य' नहीं है आंकड़ों पर बहस करने के लिये तैयार होंगे.'

कुमार ने अन्य ट्वीट में कहा, 'चिदंबरम ने केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के अधिकारियों के खिलाफ असंतोष प्रकट किया है. सीएसओ अधिकारियों ने इस काम के लिये तकनीकी रूप से बहुत अभ्यास किया है.' सरकार ने जनवरी 2015 में 2004-05 की जगह आकलन के लिये 2011-12 को आधार वर्ष बनाया था. इससे पहले इसे जनवरी 2010 में संशोधित किया गया था.

सीएसओ ने 2011-12 को आधार वर्ष बनाते हुये जीडीपी आंकड़ों की श्रृंख्ला बुधवार को जारी की. नये आंकड़ों में दर्शाया गया है कि भारत की आर्थिक वृद्धि संप्रग सरकार के कार्यकाल में औसतन 6.7 प्रतिशत रही जबकि मौजूदा राजग सरकार के कार्यकाल में यह 7.3 प्रतिशत रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi