विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

सीडी मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में हो: बघेल

छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार तड़के पत्रकार विनोद वर्मा को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया था

Bhasha Updated On: Oct 28, 2017 09:36 PM IST

0
सीडी मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में हो: बघेल

छत्तीसगढ़ के मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने मंत्री के कथित अश्लील सीडी मामले की स्वतंत्र एजेंसी से सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में जांच कराने की मांग की है.

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने शनिवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस मामले में जिस प्रकार से पूरी सरकार और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) सामने आई है उससे किसी भी सरकारी एजेंसी से मामले की निष्पक्ष जांच संभव नहीं है.

बघेल ने कहा, ‘हमारी मांग है कि पूरे मामले की स्वतंत्र एजेंसी से सुप्रीम कोर्ट की देख-रेख में जांच कराई जाए.’ उन्होंने आरोप लगाया कि देश में मीडिया की आवाज को दबाने का षड्यंत्र रचा जा रहा है और हमले किये जा रहे है. कानूनी मामलों में फंसाया जा रहा है. उसी कड़ी में कल पत्रकार विनोद वर्मा की आवाज को भी दबाने का कुचक्र बीजेपी और छत्तीसगढ़ सरकार ने उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार के सहयोग से रचा.

बघेल ने कहा कि बीजेपी राजनीतिक शुचिता की बातें करती है. लेकिन सीडी उजागर होने के बाद पूरी बीजेपी और सरकार मंत्री के बचाव में सामने आई. इस मामले में बिना जांच के सारी नैतिकता और मर्यादाओं को ताक में रखकर मंत्री का बचाव किया जा रहा है.

बघेल ने कहा बिना जांच हुई है वर्मा की गिरफ्तारी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि एफआईआर के 11 घंटे के भीतर रायपुर से सोलह सौ किलोमीटर दूर गाजियाबाद में जाकर विनोद वर्मा को गिरफ्तार कर लिया जाता है. जबकि एफआईआर करने वाले ने यह नहीं बताया कि उनको धमकीभरा फोन करने वाला विनोद वर्मा थे.

बघेल ने कहा कि एफआईआर के बाद जांच की सामान्य प्रक्रिया भी नहीं अपनाई गई है. न आवाज का मिलान किया गया है और न ही धमकी देने वाले के मोबाइल फोन को ट्रेस किया गया है. यह सीधे-सीधे सुनियोजित तरीके से पत्रकार को फंसाने के लिए साजिश रची गई.

छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार तड़के पत्रकार विनोद वर्मा को गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया था.

पुलिस ने वर्मा के पास से पांच सौ अश्लील सीडी, पेन ड्राईव, डायरी और लैपटाप बरामद करने का दावा किया है. बाद में राज्य के मंत्री की कथित अश्लील सीडी सामने आने की बात कहीं गई.

सीडी के सामने आने के बाद राज्य के लोक निर्माण विभाग के मंत्री राजेश मूणत ने पत्रकार सम्मेलन में कहा कि सीडी फर्जी है और चरित्र हनन करने का प्रयास है.

वहीं मूणत ने बाद में बीजेपी के अन्य नेताओं के साथ सिविल लाईंस थाने में जाकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज कराया.

पुलिस ने बघेल और वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi