S M L

पंजाब चुनाव: 'कॉफी विथ कैप्टन' से बन रहा माहौल

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस को सत्ता में लाने का दावा किया है.

Updated On: Dec 08, 2016 09:27 AM IST

Debobrat Ghose Debobrat Ghose
चीफ रिपोर्टर, फ़र्स्टपोस्ट

0
पंजाब चुनाव: 'कॉफी विथ कैप्टन' से बन रहा माहौल

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह आजकल काफी खुश हैं. उनके पार्टी कार्यकर्ता भी उत्साहित हैं.

दिल्ली के पॉश लुटियंस इलाके में अमरिंदर के सरकारी आवास पर नेताओं और कार्यकर्ताओं की भीड़ है. वो सब यहां अपने ‘कप्तान‘ को बधाई देने आए हैं या फिर आने वाले चुनाव की चर्चा के सिलसिले में जुटे हैं.

नवजोत सिंह के कांग्रेसी बनने का इंतजार

अमरिंदर के पास इस खुशी की अपनी वजह है. शिरोमणि अकाली दल (एसएडी) के दो विधायकों को पंजाब कांग्रेस ने अपने पाले में कर लिया है. अब वो पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह के पार्टी में आधिकारिक तौर पर शामिल होने की राह देख रहे हैं.

अमरिंदर सिंह ने इशारा किया है कि नवजोत सिंह भी उसी रास्ते पर चलेंगे, जिस रास्ते पर उनकी पत्नी और पूर्व बीजेपी की एमएलए नवजोत कौर ने अपने कदम बढ़ा दिए हैं. अमरिंदर सिंह ने कहा कि नवजोत से उनकी मुलाकात हो चुकी है.

पिछले हफ्ते हम मिले थे और इसे लेकर हमारी बात हुई थी. वो जल्द ही पार्टी ज्वाइन करेंगे (शायद एक सप्ताह में). नवजोत सिंह अमृतसर लोकसभा उप-चुनाव लड़ेंगे या नहीं, इसका फैसला उन्हें ही करना है- अमरिंदर सिंह

नवजोत की पत्नी हाल ही में पंजाब कांग्रेस में शामिल हुई हैं.

siddhu1

एसएडी, एएपी के कई नेता जुड़ेंगे

दिल्ली में अमरिंदर सिंह एसएडी के दो विधायकों- निहाल सिंह वाला से राजिंदर कौर भागिके और बाघा पुराना से महेश इंदर सिंह के कांग्रेस में शामिल होने की सार्वजनिक घोषणा करेंगे.

इसके अलावा वो शिरोमणि नेता प्रीतम एस कोटभाई और फिलौर से सामाजिक कार्यकर्ता, अजय शर्मा को भी पार्टी में लिए जाने का ऐलान करेंगे.

पिछले चुनाव में कोटभाई कांग्रेस उम्मीदवार से मामूली अंतर से हार गए थे.

नवजोत सिंह और एसएडी विधायकों के अलावा पंजाब कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (आप) की स्टेट यूनिट के भी कई नेताओं के जुड़ने का इंतजार कर रही है.

किसानों से लेकर युवाओं तक अलग-अलग वर्गों को लुभाने के लिए अमरिंदर पंजाब के अलग-अलग हिस्सों का लगातार दौरा कर रहे हैं.

अपने दौरे में वो ‘हल्के विच कैप्टन’, ‘कॉफी विथ कैप्टन’ जैसे नए और हट के कैंपेन का सहारा ले रहे हैं. वो हाईवे किनारे ढाबों पर रुक कर लोगों की समस्याएं सुन रहे हैं.

आम आदमी पार्टी ढलान पर है

अमरिंदर सिंह कहते हैं कि पंजाब में आम आदमी पार्टी ढलान पर है. अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी मुकाबले में कहीं नहीं है. हालांकि शुरुआत में उन्हें हल्की बढ़त मिलती दिख रही थी लेकिन अब उनकी हालत खराब है. इतना कि, अब पंजाब चुनाव में वो चार सीट भी नहीं जीत पाएंगे.

अमरिंदर ने कहा, ‘जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएंगे एसएडी और आप से नेताओं के छोड़-छोड़कर जाने का सिलसिला शुरू हो जाएगा, आचार संहिता लागू होने पर तो ये और भी बढ़ेगा.'

शिरोमणी अकाली के एक एमएलए के करीबी पंजाब कांग्रेस के एक कार्यकर्ता ने दावा किया कि एसएडी के नेतृत्व से पार्टी के नेता-कार्यकर्ता सभी दुखी हैं. आने वाले चुनावों में वर्तमान विधायकों का टिकट काटा जा रहा है और जब वो इस बारे में पार्टी हाईकमान से सवाल करते हैं तो उन्हें डराया-धमकाया जाता है’.

Photo. PTI

नोटबंदी लागू करने का सिस्टम ठीक नहीं

अमरिंदर ने कहा, 'मेरी निजी राय है कि काले धन को मिटाने के लिए नोटबंदी का फैसला अच्छा है लेकिन इसे लागू करने का सिस्टम ठीक नहीं है. ये सोचने वाली बात है कि करेंसी सिस्टम से अगर 86 फीसदी कैश निकाल लिया जाए तो दिक्कतें तो होंगी ही. सरकार को इसे पूरी तैयारी के साथ लागू करना चाहिए था’.

इनकम टैक्स विभाग ने अमरिंदर सिंह और उनके बेटे के खिलाफ हाल ही में चार्जशीट फाइल किया है. आईटी विभाग ने ये चार्जशीट विदेशों में अघोषित संपत्ति की जांच के मामले में दाखिल की है.

इसके फौरन बाद अमरिंदर सिंह ने ट्विटर पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ मोर्चा खोल दिया.

अमरिंदर ने कहा, ‘मेरे खिलाफ आईटी विभाग के पास कोई सबूत नहीं है. ये पूरी तरह राजनीति से प्रेरित है. 2014 लोकसभा चुनाव में अमृतसर में मेरे खिलाफ अरुण जेटली खड़े थे, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार ये मुद्दा उठाया.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi