विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

'पोसंपा भाई पोसंपा, गंगा सफाई का क्या हुआ?'

कैबिनेट विस्तार के बाद सोशल मीडिया पर लोग अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

FP Staff Updated On: Sep 03, 2017 03:56 PM IST

0
'पोसंपा भाई पोसंपा, गंगा सफाई का क्या हुआ?'

कैबिनेट विस्तार की खबरें आते ही सोशल मीडिया पर तमाम तरह की प्रतिक्रियाएं आना शुरू हो गई हैं. अलग-अलग तरह की इन प्रतिक्रियाओं में कुछ बहुत विचित्र हैं तो कुछ बहुत मजेदार.

‘फेसबुक पर उमा भारती को हटाने पर किसी ने लिखा है-

'पोसंपा भाई पोसंपा,गंगा सफाई का क्या हुआ’

इसके साथ ही एक और यूजर ने पोस्ट किया है,

‘मैं मंत्रिमंडल तक पहुंचने की सारी जुगाड़ को गोपनीय रखने की शपथ लेता हूं.’

इस तरह के पोस्ट करने में नेता और राजनीति से जुड़े लोग भी पीछे नहीं हैं.

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लिखा है, अगर इतने सारे लोग फेल हो रहे हैं तो कसूर सिर्फ फेल होने वालों का नहीं है.

लालू प्रसाद यादव अपने चिरपरिचित अंदाज में ट्वीट करते हुए सरकार और नीतीश कुमार को निशाने पर ले रहे हैं.

लालू प्रसाद यादव के सपूत तेजस्वी यादव ने भी लगातार दो ट्वीट किए हैं. एक में उन्होंने नए बने मंत्रियों को बधाई देते हुए कहा है कि उम्मीद है कि बिहार से आने वाले मंत्री राज्य के विकास में मदद करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा कि गाड़ी के क्लच, स्टेयरिंग और ब्रेक बदलने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, जबतक ड्राइवर न बदला जाए.

अन्ना हजारे के विचार भी तेजस्वी से मिलते हैं. अन्ना हालांकि ट्विटर पर नहीं हैं पर एक वीडियो में उन्होंने भी ड्राइवर वाली बात कहीं है. चूंकि अन्ना थोड़े पुराने ज़माने के आदमी हैं तो उनहोंने कार की जगह बैलगाड़ी शब्द का इस्तेमाल किया है.

सरकार के समर्थन में भी कई पोस्ट हुए हैं. एक यूजर ने लिखा है, पहली बार है जब रक्षा, विदेश और सूचना प्रसारण जैसे तीन अहम मंत्रालयों पर महिलाएं हैं.

कई लोग निर्मला सीतारमण को भारत की पहली महिला रक्षामंत्री बता रहे हैं. निर्मला स्वतंत्र रूप से रक्षा मंत्रालय संभालने वाली पहली महिला हैं. इससे पहले प्रधानमंत्री रहते हुए इंदिरा गांधी रक्षा मंत्रालय का भार अपने पास रख चुकी हैं

निर्मला सीतारमण के जेएनयू से पढ़े होने को लेकर भी चर्चा हो रही है. जेएनयू से जुड़ाव रखने वाले लोग अब जेएनयू को देशद्रोहियों का अड्डा बताने वालों का मजाक उड़ा रहे हैं.

एक ट्वीट में ये भी कहा गया है कि मोदी सरकार ने मीडिया को परेशान करना जारी रखा है, रविवार को कैबिनेट विस्तार करके इन्होंने न जाने कितने पत्रकारों की छुट्टी खराब कर दी.

इसके अलावा ओलंपिक पदक विजेता राज्यवर्धन राठौर के खेल मंत्री बनने का भी स्वागत हुआ है. लोगों ने लिखा है कि पहली बार देश में एक ओलंपिक पदक विजेता को खेल मंत्रालय दिया गया है, उम्मीद है कि कुछ अच्छा होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi