विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

कामकाज में प्रदर्शन के हिसाब से कैबिनेट में किया गया है फेरबदल

अरुण जेटली ने कहा, प्रधानमंत्री ने शासन में उनकी योग्यता एवं मेधा की पहचानने तथा उन्हें महत्वपूर्ण विभागों का प्रभार सौंपने में बड़ा अच्छा किया है

Bhasha Updated On: Sep 03, 2017 09:27 PM IST

0
कामकाज में प्रदर्शन के हिसाब से कैबिनेट में किया गया है फेरबदल

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि विभागों का बंटवारा हर मंत्रालय एवं उसके मंत्रियों के प्रदर्शन को देखकर किया गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कामकाज को देखने के बाद ही यह बंटवारा किया है.

केंद्रीय मंत्रिमंडलय के छह मंत्रियों ने फेरबदल से महज कुछ दिन पहले इस्तीफा भी दिया था. इस फेरबदल के तहत नौ नये चेहरे भी राज्यमंत्री के रुप में शामिल किये गये हैं. जेटली ने कहा कि प्रधानमंत्री ने निश्चित ही शासन में जवाबदेही के उच्च मापदंड तय कर रखे हैं.

सबसे बड़ी जिम्मेदारी निर्मला को

जेटली का रक्षा मंत्रालय आज निर्मला सीतारमण को दे दिया गया. उनके पास वित्त एवं कॉरपोरेट मंत्रालय भी बना रहेगा.

उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री ने बहुत ऊंचे मापदंड तय कर रखे हैं. यह बिल्कुल स्पष्ट है कि वह हर मंत्रालय और व्यक्ति के कामकाज की बड़ी करीब से निगरानी कर रहे हैं, इसलिए उन्होंने तय किया कि किसे कौन सी जिम्मेदारी दी जाए.’ उन्होंने कहा कि आवंटन क्षमता पर आधारित है और उसका आधार यह है कि कौन किस मंत्रालय में अच्छा काम कर सकता है.

नई टीम में काबिल बीजेपी नेताओं को शामिल किए जाने को उन्होंने अहम करार दिया है. जेटली ने कहा कि वे राजनीति में कदम रखने वाले नए लोग नहीं है. उनमें से कुछ रिटायरमेंट के बाद बीजेपी में शामिल हो गए थे.

काबिलियत पर फोकस 

उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि प्रधानमंत्री ने शासन में उनकी योग्यता एवं मेधा की पहचानने तथा उन्हें महत्वपूर्ण विभागों का प्रभार सौंपने में बड़ा अच्छा किया है.’ पिछले तीन साल में तीसरी बार हुए फेरबदल में हरदीप सिंह पुरी, आर के सिंह, सत्यपाल सिंह और अलफोंस कन्ननथानम जैसे पूर्व नौकरशाह शामिल किए गए हैं जो शासन को नई गति देने के मोदी की कोशिश को दर्शाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi