S M L

उपचुनाव: योगी के बिना गोरखपुर में जीत दर्ज कर पाएगी बीजेपी?

गोरखपुर और फूलपुर सीट पर 11 मार्च को उपचुनाव होंगे. इसके परिणामों की घोषणा 14 मार्च को की जाएगी

Updated On: Feb 11, 2018 05:46 PM IST

Bhasha

0
उपचुनाव: योगी के बिना गोरखपुर में जीत दर्ज कर पाएगी बीजेपी?

उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी है. इन उपचुनावों में अब केवल एक महीने का समय बचा है.

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफा देने के कारण खाली हुई हैं क्योंकि ये दोनों नेता इस्तीफा देकर उत्तर प्रदेश विधानपरिषद के सदस्य बन गए है. उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल में रहने के लिए इन दोनों को प्रदेश की विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य होना जरूरी था.

कांग्रेस अपने गढ़ में भी जीत के लिए मशक्कत कर रही है

राज्य में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के लिए गोरखपुर लोकसभा सीट प्रतिष्ठा का सवाल है क्योंकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस सीट पर पांच बार जीत हासिल कर चुके हैं. योगी के पहले उनके गुरू मंहत अवैद्यनाथ इस सीट पर तीन बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं.

दूसरी तरफ फूलपुर लोकसभा सीट जो कभी कांग्रेस का गढ़ हुआ करती थी और पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू इस सीट पर पार्टी का प्रतिनिधित्व कर चुके थे. इस सीट पर पहली बार बीजेपी ने 2014 में जीत दर्ज की थी और केशव प्रसाद मौर्य ने यहां पार्टी का भगवा झंडा लहराया था.

इन उपचुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने तैयारियां तेज कर दी हैं. सबकी निगाहें बीजेपी पर होंगी जो इन सीटों को वापस हासिल करना चाहेगी. उसके लिए यह उपचुनाव खासतौर पर इसलिए भी प्रतिष्ठा का प्रश्न है क्योंकि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में यह पार्टी प्रचंड बहुमत से सत्ता में आई है.

नौ फरवरी को चुनाव आयोग ने दोनों सीटों पर 11 मार्च को उपचुनाव कराए जाने की घोषणा की थी और परिणामों की घोषणा 14 मार्च को की जाएगी.

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ बीजेपी की प्रतिष्ठा से जुड़ी गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों के उपचुनाव की घोषणा के बाद बीजेपी और मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (एसपी) तथा कांग्रेस ने उपचुनाव में जीत हासिल करने का दावा किया.

प्रमुख विपक्षी दलों एसपी और बहुजन समाज पार्टी ने इन दोनों ही सीटों के उपचुनाव मतपत्रों के जरिए कराने की मांग पहले से ही की है.

Lucknow: Samajwadi Party President Akhilesh Yadav addressing a press conference in Lucknow on Sunday. PTI Photo by Nand Kumar (PTI1_7_2018_000084B)

एसपी का दावा सही साबित हो पाएगा?

बीजेपी प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी की जीत का विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि उनका दल हमेशा चुनाव के लिए तैयार रहता है. बीजेपी कार्यकर्ताओं की पार्टी है. मुझे विश्वास है कि आने वाले उपचुनाव में पार्टी और बड़े अंतर से जीतेगी.

हालांकि एसपी का दावा है कि मतदाता गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी को उसकी वादाखिलाफी का सबक सिखाएंगे.

एसपी प्रवक्ता सुनील सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता बीजेपी को उसकी वादाखिलाफी के लिए सबक जरूर सिखाएगी क्योंकि पिछले चुनाव में बीजेपी ने जो वादे किए थे वे आज तक पूरे नहीं हुए हैं.

उन्होंने उम्मीद जताई कि उनकी पार्टी दोनों ही सीटों पर जीत हासिल करेगी. अगले एक-दो दिन में एसपी गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के लिए अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित कर देगी.

इस बीच कांग्रेस ने भी दावा किया कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के शासनकाल में डर का माहौल बना हुआ है और उपचुनाव में जनता इसका जवाब देगी.

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा कि कांग्रेस गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव लड़ेगी और निश्चित रूप से बेहतर प्रदर्शन करेगी.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर खासकर कानून एवं व्यवस्था के मामले में बुरी तरह नाकाम साबित हुई है. प्रदेश में डर का माहौल है और किसानों की दुश्वारियां खत्म नहीं हुई हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi