S M L

BSP चीफ मायावती ने जन्मदिन पर की PC, कहा- SP-BSP साथ लड़ें और जीतें, यही असली तोहफा

बीएसपी सुप्रीमो अपना जन्मदिन पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ जनकल्याणकारी दिवस के तौर पर मनाती हैं

Updated On: Jan 15, 2019 01:27 PM IST

FP Staff

0
BSP चीफ मायावती ने जन्मदिन पर की PC, कहा- SP-BSP साथ लड़ें और जीतें, यही असली तोहफा

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती मंगलवार को अपना जन्मदिन मना रही हैं. इस मौके पर उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपने कार्यकर्ताओं और मीडियाकर्मियों को संबोधित किया.

मायावती ने बताया कि उनके जन्मदिन को उनकी पार्टी जनकल्याणकारी दिवस के तौर पर मनाती है और उन्होंने देशभर में पार्टी के कार्यकर्ताओं को, जो उनके जन्मदिन को किसी भी रूप में मना रहे हैं, शुभकामनाएं दीं.

उन्होंने कहा कि उनका ये जन्मदिन ऐसे वक्त में मनाया जा रहा है, जब कुछ दिन पहले ही उनकी पार्टी ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया है और इससे बीजेपी और दूसरी पार्टियों की नींद उड़ी हुई है. उन्होंने कहा कि ये प्रदेश तय करता है कि देश में किसकी सरकार बनेगी और प्रधानमंत्री कौन बनेगा. उन्होंने कहा कि वो चाहती हैं कि उनकी पार्टी और एसपी के नेता साथ मिलकर लड़ें और जीतें, यही उनके जन्मदिन का असली तोहफा होगा.

इस पीसी में मायावती ने लोकसभा चुनावों से लेकर किसानों की कर्जमाफी और रक्षा सौदों पर मचे बवाल पर भी बोला.

उन्होंने कहा कि जनता ने कुछ समय पहले ही पांच विधानसभा चुनावों में बीजेपी को जनता ने असलियत दिखाई है. साथ ही कांग्रेस को भी इससे सबक लेने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि बीजेपी और कांग्रेस एक ही सिक्के के दो पहलू हैं.

मायावती ने कहा कि देश के हित में यही होगा कि केंद्र सरकार अपनी सहयोगियों पार्टियों के साथ मुख्य विपक्षी पार्टियों को रक्षा सौदों के मामले में विश्वास की नीति बनाए, ताकि इन सौदों को लेकर बेहतर समझ बनाई जाए और कोर्ट-कचहरी जाने से बचा जा सके.

मायावती ने कर्जमाफी पर केंद्र और राज्य सरकारों की घोषणा को बेकार बताया और कहा कि इससे किसानों को कोई फायदा नहीं मिलता. इससे उन्हें कर्ज से कोई मुक्ति नहीं मिलती. सरकारों को इनके पूरे कर्ज को माफ करने की जरूरत है.

 

मायावती ने उन बीजेपी नेताओं पर भी निशाना साधा, जिन्होंने हिंदू देवी-देवताओं के जाति और समुदाय पर टिप्पणी की थी. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि अब मुस्लिमों के जुमे की नमाज पर भी रोक लगाई जा रही है.

बीएसपी चीफ ने इस मौके पर अपनी किताब ए ट्रेवेलॉग ऑफ माई स्ट्रगल रिड्डेन लाइफ एंड बीएसपी मूवमेंट के 14वें संस्करण को रिलीज किया.

मायावती के 63वें जन्मदिन को बीएसपी के कार्यकर्ताओं ने भव्य तरीके से मनाने की तैयारी कर रखी है. लखनऊ में बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगाए गए हैं. इसके साथ ही पार्टी हेडक्वार्टर और मायावती के आवास के आसपास नीले रंग के बैनर से सड़कें भरी पड़ी हैं.

आने वाले चुनाव को ध्यान में रखते हुए मायावती पार्टी वर्कर्स के साथ लगातार बैठकें कर रही हैं. जमीनी हकीकत का पता लगाने के लिए वो लगातार अपने कार्यकर्ताओं से मिल रही हैं और चुनावी तैयारियों का जायजा ले रही हैं.

बीएसपी के एक नेता ने न्यूज18 को बताया कि बहनजी ने कहा है कि पार्टी का हर कार्यकर्ता हर बूथ पर अपनी मजबूत मौजूदगी रखे. हर जाति और सामाजिक पृष्ठभूमि से आने वाले लोगों को पार्टी से जोड़ने की कोशिश चल रही है. वो अपनी गैर-मौजूदगी में हुए कामों का लेखा-जोखा भी ले रही हैं.

पार्टी के एक नेता ने बताया कि बहनजी अपना जन्मदिन पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ जनकल्याणकारी दिवस के तौर पर मनाती हैं. उनकी कोशिश होती है कि वो वंचित तबके तक ज्यादा से ज्यादा अपनी पहुंच बनाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi